क्या होता है ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर और इसके फायदे | What is Open Source Software in Hindi

क्या होता है ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर और इसके  फायदे | What is Open Source Software in Hindi

Open Source Software क्या है और इसके फायदे

हेल्लो दोस्तों, अगर आप कंप्यूटर basics के अलावा कंप्यूटर के बारे में थोडा और जानते हैं तो आपने Open Source software का नाम तो सुना ही होगा.., यह Technology से जुड़ा हुआ एक बहुत ही Interesting और important टर्म है अगर आपने इसके बारे में पहले नहीं सुना है या इसके बारे में नहीं जानते हैं तो चिंता की कोई बात नहीं क्यूंकि इस पोस्ट में हम इसी बारे में बात करेंगे तो अगर आप जानना चाहते हैं की Open Source software क्या है? यह इतना interesting क्यूँ है और यह इतना interesting और important क्यूँ है तो इस पोस्ट को आगे पड़ते रहिये तो बिना समय गवाए आइये जानते हैं इन सभी चीजों के बारे में।

open source software उस सॉफ्टवेयर को कहा जाता है जिसके source code सभी के लिए ओपन हो और जिसमे हर कोई अपना योगदान देकर उसे बेहतर बना सकता हो। इन सॉफ्टवेयर को free में अपने काम में लिया जा सकता है तथा इसे अपनी जरूरत के अनुसार changes भी कर सकता है।
आज कल हम कई जगहों पर open source software का इस्तेमाल कर रहे हैं तथा धीरे-धीरे इनके बारे में जान भी रहे है आजकल Open source software का सबसे बड़ा उदहारण है Android जो की एक operating system है और आजकल लगभग हर जगह इस्तेमाल हो रहा है।
आज कल Open source software के हर जगह बढ़ते योगदान को नकारा नहीं जा सकता क्यूंकि आजकल इनका इस्तेमाल लगभग हर जगह हो रहा है। क्यूंकि इनमें दुनिया भर के developers द्वारा योगदान दिया जाता है इसलिए ये बहुत ही शक्तिशाली होते हैं।
जैसा की आप सभी जानते ही हैं की ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर फ्री ही होते हैं। ऐसे में शुरूआती दौर में कई सारी कम्पनियाँ ऐसा कुछ करने से कतराती रही लेकिन सन 1997 में San Francisco में Open Source Initiative (ओपन सोर्स इनिशिएटिव) या जिसे OSI नाम की एक organization की शुरुआत हुई और 10 शर्ते बनायीं गयी OSI के अनुसार जिस भी सॉफ्टवेयर का license इन 10 शर्तों को पूरा करता है उसे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर कहा जा सकता है इन शर्तों में मुख्य कुछ इस प्रकार है।

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर लिस्ट

यहाँ आपको सारे लोकप्रिय ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम लिस्ट के साथ साथ पूरी ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के उदाहरण भी मिलेगा | 

--BitTorrent,Blender,Debian,Draw,Freely,Ethereal,GNU,Pearl,Python,Evergreen,GENTU,Open street Map,Own cloud, QT,Selenium इस प्रकार के अनेक फ्री सॉफ्टवेयर उपलब्ध है और आप चाहे तो इसका इस्तेमाल बिना षुल्क दिए कर सकते है | 

प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर क्या हैं (What are Proprietary Software)

Proprietary सॉफ्टवेयर, जिसे Closed Source सॉफ्टवेयर के रूप में भी जाना जाता है, यह एक कॉपीराइटेड सॉफ्टवेयर होता है तथा इसका उपयोग सीमित होता है| प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर का सोर्स सामान्यतः बहुत सुरक्षित रखा जाता है| प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर इसके मालिक/निर्माता की प्रॉपर्टी होती है तथा यूजर या संस्थाओं द्वारा पूर्व परिभाषित कंडीशंस के तहत उपयोग किया जाता है और यूजर इसके सोर्स कोड को एक्सेस नहीं कर सकते हैं इस सॉफ्टवेयर में यूजर पुनर्वितरित या सुधार नहीं कर सकते हैं Proprietary सॉफ्टवेयर एक विशिष्ट हार्डवेयर प्लेटफॉर्म या ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया सॉफ्टवेयर है।

Proprietary Software

  • Microsoft Windows
  • Microsoft Office
  • Adobe Flash Player
  • PS3 OS
  • Adobe Photoshop
  • Google Earth
  • Skype

ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर: महत्व:-

  • 1बौद्धिक सम्पदा अधिकार: जब कोई व्यक्ति मालिकाना सॉफ्टवेयर पर काम करता है तो वह मालिकाना सॉफ्टवेयर के बौद्धिक संपदा अधिकारों को बढ़ाता करता है, पर जब वह ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर पर काम करता है तब वह अपने बौद्धिक सम्पदा अधिकारों को बढ़ाता है, या कम से कम किसी और के नहीं। वह अपने बौद्धिक सम्पदा अधिकारों को बढ़ा रहा है या किसी के भी नहीं बढ़ा रहा है, यह उस ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर की लाईसेंस की शर्तों के ऊपर निर्भर करता है। हमारा देश दुनिया के सारे देशों में सॉफ्टवेयर के मामले में आगे हैं और यह विचारणीय प्रश्न है कि किसके बौद्धिक सम्पदा अधिकारो को मजबूत किया जाना चाहिये।

  • 2बौद्धिक सम्पदा अधिकार के साथ रिश्ता: ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर की सबसे महत्वपूर्ण बात इनका बौद्धिक सम्पदा अधिकार के साथ रिश्ता है। इसको लिखने वाले इसके प्रयोग और संशोधन करने में कोई भी बौद्धिक संपदा अधिकार का दावा नहीं करते हैं यह बात इस तरह से स्पष्ट है कि इसे लिखने वाले स्वयं कहते हैं कि जो चाहे तो इसका प्रयोग कर सकता है, वितरित कर सकता है तथा संशोधित कर सकता है। यह सच है कि इस शताब्दी में लड़ाईयां पानी तथा तेल पर होंगी पर बहुत सी लड़ाईयां बौद्धिक संपदा अधिकारों को लेकर होंगी। ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर का प्रयोग करने से बौद्धिक संपदा अधिकार के झगडों से बचा जा सकता है।
  • 3प्रयोग या संशोधन करने में कॉपीराइट का कोई अतिक्रमण नहीं: ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर को प्रयोग या संशोधन करने में हमेशा छूट रहती है। इसलिये उसका प्रयोग करने से या संशोधन करने से किसी के भी कॉपीराइट का अतिक्रमण नहीं होता है। अक्सर जब आप किसी के मालिकाना सॉफ्टवेयर का बिना पैसा दिये का प्रयोग करते हैं या एक कॉपी लेकर एक से अधिक कंप्यूटर में प्रयोग करते हैं तो आप उसके कॉपीराइट का उल्लंघन करते हैं। यह कानूनी तौर पर गलत है इस कारण आप जेल भी जा सकते हैं और हर्जाना देना पड़ सकता है। यदि ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर के प्रयोग अथवा संशोधन करने में कभी भी कानून का भी उल्लंघन नहीं होता है। इसका प्रयोग एवं संशोधन बिना किसी अपराध भावना के किया जा सकता है। हां जिन शर्तो के अन्दर यह प्रकाशित किया गया है उसका उल्लंधन करने पर अवश्य कॉपीराइट का अतिक्रमण होता है।
  • 4व्यय में कमी: ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर के लिये कोई भी रॉयल्टी नहीं ली जा सकती है। इसलिये इसका प्रयोग करने से हमेशा खर्च कम होता है। यदि कोई योजना शुरू की जाय तो ओपेन सोर्स सोर्स सॉफ्टवेयर प्रयोग करने से उसका खर्च हमेशा कम रहेगा।
  • 5सॉफ्टवेयर के दाम में कमी: चूंकि ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर के लिये कोई भी रॉयल्टी नहीं ली जा सकती है तथा इसके प्रयोग करने से खर्च कम होता है इसलिये बहुत से मालिकाना सॉफ्टवेयर के मालिकों ने भी अपने दाम कम किये हैं।
  • 6मनपसंद बनाया जा सकता है: ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर को हमेशा संशो‍धित किया जा सकता है इसलिये आप इसे हमेशा मनपसन्द बना सकते हैं। यह मालिकाना सॉफ्टवेयर में तब तक सम्भव नहीं है जब तक कि मालिकाना सॉफ्टवेयर का मालिक स्वयं न चाहे। ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर को आप जिस भाषा में चाहे उसमें प्रयोग कर सकते हैं। हमारे देश की बहुत कम जनसंख्या अंग्रेजी जानती है। ज्यादातर लोग मार्तभाषा का प्रयोग करते हैं यदि हम लोगों को मार्तभाषा में कंप्यूटर दे सके तो सूचना प्रौद्योगिकी को जन-जन तक ले जाया जा सकता हैं और यह सूचना प्रौद्योगिकी को तेजी से ऊंचाई तक ले जाने में हमारी सहायक हो सकती है। इसी लिये इस समय कई मालिकाना सॉफ्टवेयरों ने भी हिन्दीमय होने का फैसला किया है।
  • 7वायरस नहीं: वायरस एक तरह का कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो कि दूसरे कंप्यूटर या कंप्यूटर के डाटा को प्रभावित करता है। ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर में भी वायरस हो सकता है परन्तु यह मालिकाना सॉफ्टवेयर के मुकाबिले नगण्य है। कंप्यूटर वैज्ञनिकों के अनुसार चूंकि ओपेन सोर्स सॉफ्टवेयर खुला है इसलिये ज्यादा स्थायी है

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के नुकसान

1. चूँकि इसमें कोई भी requirement नहीं होती है इसे एक commercial product बनाने के लिए जिससे की money generate हो सके, इसलिए open source software ज्यादा develop करती हैं अपने हिसाब से न की users के requirements के हिसाब से | 

2. इनमें अक्सर support न के बराबर होता है. जिससे यदि कोई problem हो जाती है तब आपको इनके forum और community के ऊपर ही निर्भर करना पड़ता है उस problem का solution पाने के लिए. जो की थोडा irritating हो सकता है |

3. वैसे तो ये open source software अपने आप में mostly free होते हैं, लेकिन इनमें कुछ indirect costs भी involved होती हैं, जैसे की आपको external support के लिए pay करना पड़ सकता है |

4. चूँकि Open Source Software ज्यादा user friendly नहीं होते हैं इसलिए इन्हें ठीक तरीके से समझने और इस्तमाल करने के लिए आपके पास भी थोडा बहुत technical ज्ञान होना आवश्यक है. अन्यथा आपको basic functionalities के लिए भी दूसरों के ऊपर निर्भर रहना पपड़ सकता है |

Massage (संदेश) : आशा है की "क्या होता है ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर और इसके फायदे | What is Open Source Software in Hindi" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here