इंटरनेट की परिभाषा क्या है? | What is Internet in Hindi

इंटरनेट की परिभाषा क्या है? | What is Internet in Hindi

इंटरनेट की परिभाषा क्या है – इंटरनेट का अर्थ क्या होता है ?

आजकल science अपने technology के कदम इतनी तेजी से बढ़ा रहा है, कि हर दिन बनने वाले नए-नए  gadgets,machine software और बहुत प्रकार की चीजो से हम रूबरू ही नहीं हो पाते हैं आविष्कारो की बात करूँ तो दुनिया में अनगिनत Inventions है.जिनका ज़िक्र मैं यहाँ नहीं कर सकता मगर आज की तारिख में देखे तो internet दुनिया के सबसे बड़े अविष्कारों में से एक है।अगर मैं यह कहूँ की अब इन्टनेट एक दुनिया ही बन चुकी है तो शायद गलत नहीं होगा।

जहाँ एक आम इंसान की सोच तक नहीं पहुँच सकती वहाँ science ने  अपने कदम पंहुचा कर ये सबित कर दिया कि इंसान के लिए कुछ भी नामुमकिन नहीं,every thing is possible for us and we can do.तो चलिए जानते हैं अब इन्टरनेट के बारे में।

इन्टरनेट का मतलब है इंटरनेशनल नेटवर्क । यह दुनियां का सबसे बड़ा नेटवर्क है जो दुनिया के कंप्यूटरो को वेब सर्वर (web server) और राउटर (router) के माध्यम से आपस में जोड़ कर रखता है ।राऊटर वह उपकरण है जो एक computer से दुसरे computer को TCP/IP के जरिये कोई भी सूचना आदान-प्रदान कराता है ।जो भी कंप्यूटर  यूजर इन्टरनेट पर login करते हैं वे एक दुसरे के साथ data(text,images,audio,video)को आदान प्रदान कर सकते हैं ।यह सब TCP/IP के माध्यम से ही होता है।

इंटरनेट का परिचय

Internet को define किया जा सकता है एक Information super Highway के तोर पर, जिससे की information access किया जा सकता है over the web. लेकिन इसे और भी बहुत से तरीकों से define किया जा सकता है, चलिए उन्ही के विषय में जानते हैं : –

1. Internet एक world-wide global system है interconnected computer networks का.
2. Internet इस्तमाल करता है standard Internet Protocol (TCP/IP) का.
3. प्रत्येक computer जो की internet पर मेह्जुद हैं उन्हें identify किया जाता है एक unique IP address के माध्यम से.
4. IP Address एक unique set of numbers (जैसे की 110.22.33.114) होता है जो की एक computer location को identify करता है.
5. एक special computer DNS (Domain Name Server) का इस्तमाल किया जाता है IP Address को नाम प्रदान करने के लिए, जिससे की एक user एक computer को उसके नाम से locate कर सके.
6. उदाहरण के लिए, एक DNS server resolve करती है एक website का नाम www.motivationalthought.in को एक particular IP address में जिससे की ये पता चल सके की उस website को किस computer में host किया गया है |
7. Internet की सुविधा दुनिभर के सभी users को accessible होती है.

इंटरनेट के उपयोग (Uses of Internet in Hindi)

अपने शुरूआत के दिनों में Internet का उपयोग सिर्फ वैज्ञानिकों द्वारा एक दूसरे को रिसर्च पेपर तथा अन्य सूचनाए साझा करने तक सीमित था. लेकिन धीरे- धीरे Internet का विकास होता गया और इसमें नई-नई तकनीक को जोडा गया. जिसका वर्तमान स्वरूप हम आज देखते है. आधुनिक Internet हमारी जीवनशैली का हिस्सा हो गया है. हमारे रोजमर्रा के लगभग सारे कार्य Internet के माध्यम से घर बैठकर किये जाने लगे है.

अपने शुरूआत में Internet सिर्फ सूचनाओं के साझा करने तक सीमित था. लेकिन, वर्तमान Internet अपने पैर लगभग हर क्षेत्र में फैला चुका है. चिकित्सा से लेकर दैनिक उपयोग के सामान की खरीदी तक. आइए जानते है Internet के कुछ प्रमुख क्षेत्र जहाँ Internet का उपयोग किया जाता है.

1. संप्रेषण के लिए -To Communicate

Internet का सबसे अधिक उपयोग हम एक दूसरे से सम्पर्क साधने के लिए करते है. Internet के द्वारा हम कभी भी और कहीं भी शीघ्रता से अपने चाहने वालो को संदेशा भेज एवं प्राप्त कर सकते है. Internet पर संदेश भेजने का एक तरीका e-mail है.

2. खोजने के लिए – To Search Information

Internet को विकसित ही इसलिए किया गया था. आज से पहले कभी भी इस प्रकार सूचनाए प्राप्त करना आसान नही था. लेकिन आज हम Internet के माध्यम से दुनिया के किसी भी कोने से जानकारीयाँ प्राप्त कर सकते है और वो भी कुछ सैकण्डों में. हम दुनिया के हर कोने की खबर घर बैठे अपने कम्प्युटर पर ले सकते है. Internet में सूचनाए खोजने के लिए Search Engines का उपयोग किया जाता है.

3. मनोरंजन के लिए – To Entertainment

Internet का उपयोग मनोरंजन के साधन के रूप में किया जाता है. मनोरंजन के क्षेत्र मे विकल्प असीमित है. इसके माध्यम से हम फिल्में, गाने, विडियों आदि को देख तथा सुन सकते है. पढने के शौकिन अपने मनपसंद लेखक को पढ‌ सकते है. इसके अलावा हर वक्त का मनोरंजन विडियो गेम कि दुनिया तो हमारे लिए हर वक्त खुली होती है.

4. खरीदी के लिए – To Shopping

इसे ई-व्यापार (E-commerce) कहते है. Internet के माध्यम से बाजार को घर से ही देखा जा सकता है और अपना सामान खरीदा जा सकता है. हम Internet के द्वारा घर बैठे ही किस दुकान पर कौनसा सामान है और कौनसा नही तथा उस सामान के ढेरो विकल्प एक साथ देखकर पसंद से अपना सामान खरीद सकते है. इसके अलावा प्रचलित फैशन को जान सकते है.

5. शिक्षा के क्षेत्र में – In Education

इसे E-learning (ई-शिक्षा) कहते है. यह क्षेत्र तेजी से बढ रहा है. आज Internet के माध्यम से हम घर बैठे ही अपने लिए मनपसंद कॉलेज, स्कूल चुन सकते है. इसके अलावा हमारे पसंद के कोर्स किस कॉलेज में उपलब्ध है और उस कोर्स के बारे में सारी जानकारी यथा कोर्स की फीस, कोर्स का समयावधि आदि, यह जानकारी हम अपने कम्प्युटर पर प्राप्त कर कर सकते है. आज ई-लर्निंग का क्षेत्र काफि विकसित हो चुका है. हम घर बैठे ही दुनिया के बेहतरीन अध्यापको से पढ सकते है |

इन्टरनेट का मालिक कौन है |who owns internet

  • अब बहुत से लोगो का यह सवाल होता है की इन्टनेट का मालिक कौन होगा ?
  • इन्टरनेट कहाँ से आता है ?
  • डाटा provide कराने वाली कंपनिया (airtel .Idea .vodafone ,den) ये सब कहाँ से इन्टरनेट provide करवाती हैं ?

तो आपके इस सावाल को भी मैं यही खत्म कर देना चाहूँगा । Actually होता क्या है की इन्टरनेट को tier में बांटा गया है जैसे Tier 1,Tier 2,Tier 3,Tier 4 में और यही से से define होता है की इन्टरनेट को provide कराने में किसकी कितनी भागीदारी है ।
example के लिए मैं आपको बता देता हूँ की आप अभी मेरी वेबसाइट पर ये पोस्ट पढ़ रहे हैं जो की go daddy के server से connected है जो कि Scottsdale, Arizona, United States  में स्थित है और यहाँ मैं DEN company का इन्टरनेट use कर रहा हूँ तो कही न कही तो ये physically कनेक्ट होने ही चाहिए तो आखिर ये फंडा है क्या बताता हूँ

  1. Tier 1 ये वो कंपनियां (AT&T,Level 3,verizon NTT,DOCOMO)होती है जिन्होंने समुद्र में अपना बहुत पैसा खर्च कर के डाटा को आदान-प्रदान करने के लिए केबल बिछा रखी हैं और अंतरास्ट्रीय स्तर(international level) पर एक  देश को दूसरे देश के साथ इन्टरनेट से जोड़ के रखा है ।और यह कंपनिया किसी को भी पैसे नहीं देती और न ही किसी से डाटा खरीदती हैं ।
  2.  Tier 2 अब Tier 2 level की कंपनिया (airtel .Idea .vodafone,jio )जो देश भर में इन्टरनेट की सेवा प्रदान कर रही हैं ,होती हैं जो सिर्फ रास्ट्रीय स्तर(national level) तक सीमित होती है और इन कम्पनियों को tier 1 कंपनियों से डाटा खरीदना पड़ता है ।
  3. tier 3  यह वो कंपनीयां होती है जो लोकल एरिया में ही इन्टरनेट plan provide करवाती है जो city level तक internet provide करवाती हैं और इनको Tier 2 वाली कम्पनियों को पैसा देना पड़ता हैं ।

तो उम्मीद करता हूँ आपको इन्टरनेट क्या है (what is internet) के बारे में  जानकारी मिल गयी होगी कोई भी क्वेश्चन हो तो comment में जरूर पूछें ।

 

Massage (संदेश) : आशा है की "इंटरनेट की परिभाषा क्या है? | What is Internet in Hindi" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here