Loki Review | गॉड ऑफ़ मिसचीफ़ लोकी की स्टोरी

Loki Review | गॉड ऑफ़ मिसचीफ़ लोकी की स्टोरी

Loki Review: 'गॉड ऑफ़ मिसचीफ़' लोकी , एमसीयू की कहानी में टाइम ट्रैवल का नया रोमांच

वेब सीरीज रिव्यू: लोकी
सृजक: माइकल वाल्ड्रन (स्टैन ली व अन्य के रचे कॉमिक ‘लोकी’ पर आधारित)
कलाकार: टॉम हिडल्सटन, ओवेन विल्सन, गुगु बाथा रा, वुनमी मोसाकू, सोफिया डी मार्टिनो, रिचर्ड ई ग्रांट, यूजीन कॉर्डेरो आदि।
निर्देशक: केट हेरॉन
ओटीटी: डिज्नी प्लस हॉटस्टार
रेटिंग: ***

अगर थॉर को जानते हैं तो लोकी को तो ज़रूर पहचानते होंगे। थॉर के भाई को उसकी हरकतों की वजह से गॉड ऑफ़ मिसचीफ़ यानी 'शरारतों का भगवान' कहा जाता है। मार्वल के इस दिलचस्प किरदार को अब एक साप्ताहिक वेब सीरीज़ के रूप में पेश किया जा रहा है। अगर आप लोकी के फैन हैं तो आपको बताते हैं कि वेब सीरीज़ कहां और कितने बजे देख सकते हैं।

कौन है लोकी?

लोकप्रिय एंटी-हीरो लोकी लगभग दो सालों के बाद स्क्रींस पर वापसी कर रहा है और अपने भाई थॉर की पहचान से बाहर निकलकर पहली बार अपनी खुद की सीरीज़ में वापसी कर रहा है। मारवल यूनिवर्स का लोकी सबसे ज्यादा अप्रत्याशित किरदार रहा है, वह अपनी बात मनवाने के लिए ज़िद्दी और घमंडी रहा है और अपने भाई थॉर के साथ उसका संबंध प्यार और नफ़रत का रहा है। मारवल की थॉर और एवेंजर्स फ़िल्मों में लोकी का किरदार टॉम हिडलस्टन निभाते रहे हैं और सीरीज़ में भी वही मुख्य किरदार में दिखेंगे।  टॉम के अलावा ओवन विल्सन टाइम वैरिएंस अथॉरिटी में डिटेक्टिव, मोबियज़्म के रूप में दिखेंगे। गुगू मबाथा-रॉ, सोफिया डि मार्टिनो, वुनमी मोसाकू और रिचर्ड ई ग्रांट भी स्टार कास्ट का हिस्सा हैं। 

मार्वेल सिनेमैटिक यूनीवर्स का विस्तार हो रहा है। सिनेमा से निकलकर ये ओटीटी पर फैल रहा है। पिछले डेढ़ साल में जो कुछ दुनिया में हो रहा है और इसके चलते जो कुछ हमारे जीवन में बदल रहा है, उसका असर ओटीटी पर दिख रही नई कहानियों पर भी पड़ रहा है। ‘द फैमिली मैन’ के श्रीकांत तिवारी को अगले सीजन में कोरोना की साजिश से लड़ना है। इधर, ‘अवेंजर्स’ सीरीज का एक अहम किरदार एक दूसरी ही दुनिया में पहुंच गया है। कहानी की ये शाखा एमसीयू में वहां से उगी है, जहां लोकी ने एमसीयू की टाइमलाइन में साल 2012 में टेसैरेक्ट हाथ में आने के बाद भागने की कोशिश की। सोचिए क्या हो अगर लोकी कहीं ऐसी जगह पहुंच जाए जो धरती की टाइमलाइन से अलग किसी दूसरी ही दुनिया की हो। और, वहां लोग ऐसे हों जिनके जिम्मे ही टाइमलाइन को उनके निर्धारित समय से चलाए रखने की जिम्मेदारी हो और जो टाइमलाइन को बाधित करने वालों को सजा देने के लिए जिम्मेदार हों!

‘लोकी’ एक नई दुनिया में है। हैरान है। परेशान हैं। लेकिन, पहले जैसा बदगुमान अब भी है। अब भी उसे दूसरों को सताने में मजा आता है। बचपन में असगार्ड के राजा उसे अपने दुश्मन के यहां से ले आए थे। अपने बेटे की तरह ही उसे पाला भी। लेकिन लोकी को उन दिनों का संताप कभी भूलता नहीं है। वह इस वक्त टीवीए में है। ट्रांस वैरिएंट अथॉरिटी। इसके लिए लोकी बस एक वैरिएंट भर है। राह से भटका वैरिएंट। कुछ कुछ वैसा ही जैसा चीन की वुहान लैब से ‘भागा’ कोरोना है। दोनों के गुणों में काफी कुछ एक जैसा दिखता है। पहली बार एमसीयू का ये किरदार हकबकाया सा दिखता है। उसका मन जैसा करता है, वैसा वह कर नहीं पा रहा। लेकिन, लोकी आखिर लोकी है। वह एमसीयू में दिखे तमाम खलनायकों से अलग है। उसकी गुस्ताखियों के बावजूद दर्शक उससे जुड़ाव महसूस करते हैं। वह एवेंजर न हुआ तो क्या हुआ, अपनी तमाम खामियों के बावजूद उसकी अपनी लोकप्रियता है और तभी तो मार्वेल स्टूडियोज ने उसको एक अलग ही वेब सीरीज दे दी है।

डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर बुधवार को रिलीज हुई वेब सीरीज ‘लोकी’ मार्वेल स्टूडियोज की कल्पनों के तार असंख्य दिशाओं में फैलाती है। इसके पहले मार्वेल ने ‘वांडाविजन’ और ‘द फॉल्कर एंड द विंटर सोल्जर’ नाम की दो सीरीज रिलीज कर दी हैं। एवेंजर्स सीरीज की फिल्मों में हाशिये पर रहे किरदारों को उनका वाजिब सम्मान देने और इस बहाने पहले से चलती आ रही कहानी में पीछे जाकर इस विशाल वृक्ष पर नई कोंपले उगाने की ये कोशिश असरदार रही है। भले पहली दोनों सीरीज में एमसीयू के प्रशंसकों को इसकी फिल्मों जैसा रोमांच, विशालता और कसावट न दिखी हो लेकिन मार्वेल की इन सीरीज ने लॉकडाउन के दौरान एमसीयू के फैंस को काफी राहत जरूर दी है।

मार्वेल स्टूडियो की नई सीरीज ‘लोकी’ के पहले दो एपीसोड समीक्षकों को रिलीज से पहले ही मुहैया करा दिए गए। इन दो एपीसोड के हिसाब से ‘लोकी’ के किरदार में टॉम हिडलस्टन हकीकत के काफी करीब का किरदार दिखता है। वह यहां एक नई भाव भंगिमा के साथ हैं। खुद को भगवान समझने वाला कोई शख्स जब वास्तविकता के धरातल पर आता है, तो क्या होता है, इसकी एक झलक लोकी की पल पल बदलती मुखाकृतियों से समझी जा सकती है। टॉम हिडल्स्टन ने यहां अपनी मशहूर सीरीज ‘द नाइट मैनेजर’ से भी आगे की लकीर अपने अभिनय से खींचने की कोशिश की है। ठीक 10 साल पहले 2011 में रिलीज हुई फिल्म ‘थॉर’ से एमसीयू से जुड़ने वाले टॉम हिडल्स्टन के पास खुद को नए सिरे से स्थापित करने का ये सुनहरा मौका है। 40 साल के हो चुके टॉम के करियर का ये सबसे बड़ा टर्निंग प्वाइंट भी है।

वेब सीरीज ‘लोकी’ के लिए टीवीए की एक अनोखी दुनिया बसाई गई है। इस दुनिया का आदि और अंत समझने की कोशिश करना ही इस सीरीज का असल रोमांच है। निर्देशक केट हेरॉन की खासियत यहां इस बात में है कि इस दुनिया का करिश्मा कलाकारों के कौशल पर भारी नहीं पड़ने पाता। यहां जेल है, अदालत है, सुरक्षाकर्मियों का कहना न मानने पर त्वरित दंड का प्रावधान भी है। आग इनकी दुश्मन है। और, सीरीज आपको ये भी दिखाती है कि जिन चीजों के लिए एवेंजर्स और थानोस ‘एंडगेम’ तक भिड़े रहे, उनकी कीमत इस दुनिया में क्या है? टीवीए के एजेंट मोबियस के रोल में ओवेन विल्सन को भी एक ऐसा किरदार मिला है जिसमें उन्हें संयमित रहते हुए अपने अतीत के किरदारों पर अदाकारी का नया मुलम्मा चढ़ाने का मौका मिला है। सीरीज के बाकी कलाकार भी अपने अपने किरदारों के हिसाब से मेहनत करते दिख रहे हैं। मामला दिलचस्प हो चला है। सीरीज हिंदी में भी उपलब्ध है।

Massage (संदेश) : आशा है की "Loki Review | गॉड ऑफ़ मिसचीफ़ लोकी की स्टोरी " आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here