मन को शांत कैसे करें | मन को शांत करने के उपाय how to calm the mind | ways to calm the mind

मन को शांत कैसे करें | मन को शांत करने के उपाय how to calm the mind | ways to calm the mind

मन को शांत कैसे करें | मन को शांत करने के उपाय how to calm the mind | ways to calm the mind

मन को control करना और मान मे शांति लाने के लिए सबसे बढ़िया बात है आप अपने आपको कैसे manage करते है कैसे आप अपने जीवन को आनंददायक जी रहे है. तो चलिए कैसे आप अपने मन को अपने आप काबू कर दिमाग़ को शांति दे सकते है

मन को शांत ना रहने के क्या कारण है?What is the reason for not having peace of mind

हमारा मन अशांत रहने के कई कारण है। हम अनेक समस्या के बारे में सोचते रहते हैं। वह समस्या जो कभी शायद हमारी जिंदगी में आएगी ही नहीं। उसके बारे में सोच सोच के मन को अशांत करते रहते हैं।

जैसे पढ़ने वाले बच्चे सोचते हैं कि मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता है। यदि परीक्षा में फेल हो गया तो क्या होगा? नौकरी करने वाले कर्मचारी सोचते हैं यदि नौकरी छूट गया तो क्या होगा? बिजनेस करने वाले व्यक्ति सोचते हैं यदि बिजनेस में नुकसान हो गया तो क्या होगा?

चुकी यह संभावना बहुत कम रहती है। लेकिन सोच सोच कर ही हम अपने आप को दुखी और अशांत करते रहते हैं। चिंता और टेंशन में रहते हैं। आज के नौजवानों को मन अशांत रहने का एक बड़ा कारण यह भी है कि यदि मुझे मेरा बॉयफ्रेंड/ गर्लफ्रेंड साथ छोड़  दे तो मेरा क्या होगा? इस सभी समस्याओं का मैं आपको निवारण बताऊंगा।

योग और ध्यान : yoga and meditation

योग जीवन का उपचार है मन को शांत और स्थिर रखना हो या किसी बीमारी से छुटकारा पाना हो योग हर दिशा में आपको निहित शक्ति देता है। योग से ऐसी बीमारियों को ठीक किया जा सकता है जिनका इलाज आज के इस आधुनिक युग में सम्भव ही नहीं है। मनुष्य आज ही इस आधुनिकता में खुद को आरामदायक जीवन की और अग्रसर समझता है परन्तु सत्य तो यह है कि वह इसमे ग्रसित होता जा रहा है और तरह तरह की समस्याएं और बीमारियों का शिकार हो रहा है। 

असल में सारी बीमारियाँ और मानसिक अशांति की जड़ यह आधुनिकीकरण ही है। अगर आप गौर करेंगे तो पाएंगे कि हमारे पूर्वक आज से ज्यादा स्वस्थ और मानसिक अशांति रहित जीवन यापन करते थे। उस समय ये बीमारियाँ और मनोविज्ञानी लोगों की कोई आवश्यकता ही नहीं होती थी। कारण था उनकी दिनचर्या और क्रिया कलाप जो उनके मानसिक पटल को स्वस्थ रखने में मदद करते थे। 

गहरी सांस लेने का अभ्यास करें (deep breathing exercises)

यद्यपि यह सुझाव आपको अजीब प्रतीत हो रहा होगा पर गहरी सांस लेने का अभ्यास आपके मस्तिष्क को शांत रखने में आश्चर्यजनक रूप से कारगर है। इनका प्रतिदिन अभ्यास करे और तनाव के समय में यह उसे कम करने में मदद करेगा।

अपने मुँह को बन्द कर नाक से गहरी सांस लें। सांस लेने में थोड़ा अतिरिक्त समय लेने का प्रयास करें ताकि इसे आप चार सेकंड तक रोक कर रख सकें। अपनी सांस को चार सेकंड तक के लिए रोक कर रखें, उसके बाद अपनी सांस को आठ सेकंड की गिनती पूरा होने के बाद छोड़ें। इस अभ्यास को कुल चार बार दुहराएं।

यदि आपको इतनी देर तक सांस की गति धीमी रखने में परेशानी हो तो सांस लेने का अंतराल घटा दें और धीरे-धीरे अवधि बढ़ाने की कोशिश करें।

प्रत्येक सांस लेने और सांस छोड़ने की अवधि में अपनी सहजता के अनुसार बदलाव करें किन्तु यह सुनिश्चित करें कि आपके द्वारा सांस लेने की तुलना में सांस छोड़ने में दुगुना समय लगे। हर बार सांस लेने के बाद बीच में कुछ पलो के लिए रूकें।

पूरी नींद ले – Get Enough Sleep

Mind को काबू करने के लिए आप नींद पूरी ले, मन मे stress का होना ये सबसे बड़ा कारण है अगर हम पूरी नींद नहीं लेते तो इससे हमारा पूरा दिन सोया सोया रहता है और हमारा दिमाग किसी भी काम पे सही से नहीं लगता लगता है और काम भी पूरा नहीं होता है. पूरे दिन हमारा शरीर तनाव और थकावट मे रहता है. इसलिए दोस्तों कम से कम 7 घंटे सोए नींद पूरी हो तो mind fresh रहता है और जो भी काम करते है पूरा होता है.

प्रकृति से जुड़े रहे  stay connected to nature

दोस्तों क्या आप मानसिक शांति को किसी मॉल अथवा किसी भी कारखाने, ऑफिस, बस स्टैंड, सड़क या कोई भी ऐसी जगह जहा प्राकृतिक वातावरण को नष्ट कर दिया गया हो। क्या आप किसी ऐसी जगह पर मन की शांति पा सकते हैं। आपका उत्तर होगा नहीं। उसके पीछे कारण है और कारण यह है कि मानसिक शांति एक नियमित अभ्यास का नतीज़ा है। एक बार आप अपने मस्तिष्क को इस स्थिति में ले जाने में सक्षम होते है फिर किसी भी अशांति और बेचैनी का सामना करने को आपका मन तैयार होता है।

हरियाली फाउंडेशन से जुड़े http://www.hariyalifoundation.com/

अपने पसंद के गाने सुने – Listen Favorite Songs

जब भी हम बोर या stress से पीढ़ीत होते है तो हम अपने आपको अकेला समझते है और हमारा दिमाग़ चिड़चिड़ा हो जाता है. और हम किसी की बतो को नही सुनना चाहते है. इससे हमारे चाहने वाले भी हमसे दुराई बढ़ने लगते है और हम ज़्यादा अकेले पड़ जाते है. क्यूंकी हमे इस दुनिया मे आनंद लेने के लिए हर किसी की जरूरत होती है. इसलिए जिस भी समय आपका दिमाग़ शांत नही हो तो आप अपने मनपसंद गाने सुने और मान को control करने की कोशिश करे.

प्रेरणादायक किताबें पढ़े – Read inspirational books

दिमाग़ को शांत करने के लिए आप शांत मन से कोई अच्छी प्रेणाणादायक पुस्तके पढ़ सकते है. इसमे आप कोई नॉवेल्स या कोई सत्संग पढ़ सकते है. इससे आपके दिमाग़ के गंदे बतो का निवारण होगा और नये नये विचार पैदा होंगे.

अपने पसंदीदा कार्य-कलापों में भाग लें:

 यदि आपको खाना बनाना, पढ़ना अथवा खेल-कूद में भाग लेना पसंद है तो उन्हीं चीजों को करें! अपने मन-पसंद की चीजें करने से यह आपके मस्तिष्क को तनाव से मुक्त कर अच्छा महसूस करने में मदद करेगा, और जिससे संभवत अधिक मात्रा में एन्डोरफिन्स (endorphins) बनता है जो कि खुशी का अहसास पैदा करने में सहायक होता है।

अकेले समय व्यतीत करें: 

कभी-कभी हमारे इर्द-गिर्द मौजूद लोग हमारी तनाव को बढ़ाने का सबसे बड़ा कारण बनते हैं इसलिए इस बात को दिमाग में रखें कि हमें प्रतिदिन कुछ समय अपने आप के साथ बिताना होगा।

आराम करने एवं अकेले रहने के लिए व्यस्त काम से वक्त निकालें। सप्ताह के अंत में किसी एक स्थानीय शहर अथवा प्राकृतिक रिजर्व के लिए जाये, जहां आपको चिंतन के लिए कुछ समय मिल सकेगा।

यदि आप अपने कार्यक्रमों में काफी व्यस्त है तो अपने मित्रों के साथ बनाए किसी भी योजना को रद्द कर दें। दूसरों के साथ किसी समय को साझा करने के अलावा खुद के लिए वक्त निकालना ज्यादा महत्वपूर्ण होता है।

अपने परिवार से अलग भी खुद के लिए वक्त निकालें। यह इतना महत्वपूर्ण नहीं है कि आप उनको कितना ज्यादा चाहते हैं, सभी को एक स्वस्थ मानसिकता बनाये रखने के लिए अपने परिवार से दूर रहने के लिए थोड़ा समय होना आवश्यक है।

अपने आप से प्यार करे – Love Yourself

मन की शांति का सबसे बढ़िया बात है की आप खुद से प्यार करे. जब तक आप अपने आप या अपने द्वारा किए गये कार्यो से खुश नही रहेंगे तब तक आप अपने mind को control नही कर सकते. आप ये सोचते हो की आप जो भी कार्य कर रहे है उसमे आपको अच्छा परिणाम नहीं मिलेगा और कोई भी आपको प्यार नहीं करेगा। अपने काम से प्यार करे उसमे लगाव रखे. इससे आपका काम भी अच्छा होगा और साथ में दिमाग भी शांत रहेगा।

आप अपने आस- पास की छोटी-छोटी चीज़ो को देखकर खुश रहने की कोशिश करे, लोगो के बारे में सोचना बंद कर दे. हर किसी के अंदर बुराई देखने की जगह प्रेम तलाशने की कोशिश करो. जिससे वो भी आपको प्यार से देखेंगे प्यार से बात करेंगे. इससे आपके मन को शांति मिलेगी और आप जीवन के मजे ले सकते हो

हमेशा खुश रहे – Be Happy

आप अपने दिमाग़ को relax या control तभी कर सकते है जब आप अपने द्वारा किए गये कार्यो से खुश रहेंगे. खुश रहना हमेशा शरीर के लिए बहुत लाभकारी होता है. खुश आदमी खुशी खुशी अपने काम को आसानी से पूरा कर लेता है और सदा जीवन मे खुशहाल रहता है. वा ना केवल खुद खुश रहता है बल्कि औरो को भी सही प्रेरणा देता है.

अगर आप अपने कार्यो से खुश नही रहते है तो आपको ज़्यादा से ज़्यादा कठिनाइया आती है और इससे आप कोई भी कठिनाइयो से छुटकारा नही पा सकते है. खुश रहने वाले अपने विचारो से परे नही होते है वी वक़्त के साथ अपने को ढाल देते है.

सकारात्मक सोचे – Think positively

बहुत से friends पहले ही अपने mind मे negative thoughts रखते है की जो काम मे start कर रहा या करूँगा वो मुझसे नहीं हो पाएगा. ऐसा कोई कार्य इस दुनिया मे नहीं है जो इंसान ने नहीं किया होगा अगर आप कड़ी मेहनत अच्छे लगान से काम कर रहे हो तो आपको result अच्छा मिलेगा सिर्फ़ सोच सकारात्मक होनी चाहिए.अगर आप पहले से ही mind मे set कर लेते हो की ये काम मुझसे नही होगा या मैं कर नही सकता तो वो negativity की habbit हो जाती है. अगर हम बार बार ये सोचे की ये मुझसे नहीं हो पाएगा तो आप किसी भी कार्य करने से डरते है और आपकी सोच Negative होती जाती है. इसलिए दोस्तों हर रोज सकारात्मक सोचे और अपने मन को शांत रखे

नशीले पदार्थों  का सेवन ना करें :

मादक पदार्थ आपके मानसिक विकास को अवरुद्ध करके सकारात्मक ऊर्जा का नाश कर देते हैं। वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अध्ययन के मुताबिक वह व्यक्ती जो व्यसन में लिप्त होते है मादक पदार्थों का सेवन करते हैं। उनका मानसिक विकास रुक जाता है। जिससे ऐसे लोग अपने आप को समस्याओं के एक ऐसे समंदर में घिरा हुआ पाते है जिसका कोई किनारा नहीं।

क्या कोई ऐसी समस्या है दुनिया में जिसका कोई समाधान नहीं? ऐसा नहीं है अगर आप समाधान ढूँढते है तो जरुर आपको मिलता है। चुकीं उनकी मानसिकता मादक पदार्थों के सेवन से नकारत्मक विचारो से भरी होती है। इस तरह वो गलत फैसले लेते हैं और कभी कभी आत्म हत्या जैसे कुकृत्य कर लेते हैं। एक व्यसनी व्यक्ती की मानसिकता आम इंसान से काफी ज्यादा अशांत होती है। और ऐसी परिस्तिथियों में जब उन्हें मादक पदार्थों की सही खुराक ना मिले उनकी मानसिकता को और ज्यादा असंतोष और बेचैनी, अशांति पैदा कर देती है। अगर आप मन की शांति चाहते है तो आपको मादक पदार्थों के सेवन पर रोक लगानी होगी। उसके कुछ दिनों बाद आपकी मानसिकता सकारात्मक ऊर्जा का संचार करना सुरू करती है। 

 

Massage (संदेश) : आशा है की "मन को शांत कैसे करें | मन को शांत करने के उपाय how to calm the mind | ways to calm the mind" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here