एम.बी.ए चाय वाला की यात्रा | THE JOURNEY OF MBA CHAI WALA BIOGRAPHY IN HINDI |

एम.बी.ए चाय वाला की यात्रा | THE JOURNEY OF MBA CHAI WALA BIOGRAPHY IN HINDI |

हेल्लो दोस्तों आज बात करने जा रही हूँ एक चाय वाले की कैसे बना MBA चाय वाले आइए देखती हूँ  MBA  चाय वाले की कहानी 

M.B.A FULL FORM

MR.BILLORE AHMEDABAD

नाम

प्रफुल्ल बिल्लोरे

जन्म

14 जनवरी

उम्र

24 साल

धर्म

बिल्लोरे

निवास

धार मध्य प्रदेश

पसंदीदा स्थान

अहमदाबाद

राष्ट्रीयता

भारतीय

पसंदीदा डिश

चाय

योग्यता

बी.कॉम

कैसे बना M.B.A चाय वाला

प्रफुल्ल को 5 दिन लग गये थे सामान इखडा करने में पर ये साहस जुड़ने में 50 दिन लग गए थे ये कोई आम बात नहीं थी इतना पढ़ा लिखा होने के बाद रोड पे चाय का ठेला लगना जैसे तैसे हिम्मत जुड़ा भी ली थी फिर समाज की बातें और उनका मजाक उड़ना ये सब चीजों का भी सामान करना पढ़ा था अगर प्रफुल्ल की जगहे और कोई लड़का होता तो वो लोगो की बातें सुन के ये  सब छोड़ देता पर प्रफुल्ल बहुत हिम्मत वाले हैं आज की जनरेशन में कोई भी लड़का ये काम करना नहीं चाहता हैं पर प्रफुल्ल को कही न कहीं यकीन था मैं कुछ कर सकता हूँ और आज उन्हें पूरी दुनिया जानने लगी हैं mba चाय वाला के नाम से अगर आपकी नियत साफ़ हैं तो कोई नहीं रुक सकता हैं आपको कायमाबी छूने से काम कभी छोटा बड़ा ना समझो बस उसे ईमानदारी से करो |  लाइफ में जितना लोगो को इगनोरे करोगे उतना लाइफ में आगे बढोगे यही प्रफुल्ल के साथ हुआ हैं उन्हें लोगो को बहुत इगनोरे किया और कामयबी हासिल की प्रफुल्ल ने अपनी दुकान का नाम रखा था mr.BILLORA नाम रख लिया था पर इस नाम से तो सब उनका मजाक बनने लगे थे बोलते थे बिल्लोरानी के यहाँ चलते हैं | बिल्ले के यहाँ चलते हैं एक दिन रात को प्रफुल्ल ने सोचा कुछ नाम रखते हैं फिर इन्होने MBA चाय वाला नाम रख लिया और फिर भी लोगो ने उनका मजाक ही बनाया  MBA का मतलब होता हैं मिस्टर बिल्लोरे अमहदाबाद इस नाम से उन्हें आज इतनी बड़ी पहचान मिली हैं |

प्रफुल्ल बिल्लोरे जीवनी 

प्रफुल्ल बिल्लोरे का जन्म 14 जनवरी 1996 में हुआ था ये इंदौर के पास  एक छोटे से गाँव धार से BELONG करते हैं यह मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं ये पढाई के लिए इंदौर आ गये थे इन्होने में 2 से 3 साल तक M.B..A की प्रिपरेशन की लेकिन इनका सिलेक्शन नहीं हो पाया था प्रफुल्ल बिल्लोरे ने फिर घूमना शुरु की दिया था उन्हें घूमना इसलिए भी था क्यूंकि दुनिया को जाना था और जेब में पैसे भी नहीं थे और घूमना भी था तो बिल्लोरे ने यहाँ भी सिखया हैं कम पैसे में कैसे घुमे बिल्लोरे ने अपने फ्रेंड लोगो को बताया मैं बैंगलोर आया हूँ तो दोस्त बोले आ जाओ मेरे पास तो चले गये और 1.2 दिन इस दोस्त के पास रहे फिर दूसरे के पास ऐसे ऐसे करते करते 17 दिन बिता दिए 

1.दोस्तों बताती हूँ MBA चाय वाला कैसे बना प्रफुल्ल MBA करना चाहते थे और भी टॉप कॉलेज से और प्रफुल्ल ने 2 से 3 तक बहुत मेहनत की MBA की CAT,GMAT,MAT,GRE तैयारी की और एग्जाम दिया लेकिन इनका सिलेक्शन नहीं हुआ और बहुत दुखी भी हुए थे लेकिन होसला कम नहीं हुआ था प्रफुल्ल बहुत सब्र करने वालो में से हैं |

2.प्रफुल्ल ने इंडिया घुमने का सोच और घुमने के लिए पैसे चाहिए थे लेकिन इतने पैसे नहीं थे लेकिन दिमाग बहुत था जितनी सेविंग थी प्रफुल्ल के पास जितना पैसा था उतने में घूमना था तो प्रफुल्ल ने ट्रक के यात्रा की थी बंगलौर की जब वहां गया तो फेसबुक में पोस्ट डाली  I AM BANGLORE तो दोस्तों के MSG आया बंगलौर में हैं तो मिल प्रफुल्ल ने दोस्तों को ऐसा दिखया की इतना बोल रहे हो तो ठीक हैं  रुक जाता हूँ और प्रफुल्ल बाते इतनी अच्छी करते हैं की हर कोई फेन हो जाता हैं कोई भी अपने घर 1 या 2 दिन रख सकता हैं लेकिन रोज नहीं वही प्रफुल्ल ने दिमाग लगया और दोस्त बनाया और बोले चलो आज आपके घर रुक जाते हैं ऐसे करते करते 17 दिन निकल दिए | 

3.प्रफुल्ल जब घूम के अहमदाबाद अपने रूम पे आ गये थे तो प्रफुल्ल ने सोचा अब तो कुछ करना पड़ेगा बैठे बैठे कुछ नहीं होगा तो प्रफुल्ल ने  मैकडोनाल्ड में जॉब की सिर्फ 37 रुपए प्रति घंटा जॉब पे रख लिया बेटर की जॉब मिली थी प्रफुल्ल को काम से कोई शर्म नहीं हैं प्रफुल्ल ने 4 जगह जा के जॉब के लिए बोला पर उन्हें जॉब नहीं मिली क्यूंकि जो अपनी पढाई बता देते थे मेनेजर को लगता था कही ये मेरी जॉब न ले ले 
फिर 5 जगह जेक बोला मैं 10 क्लास तक पढ़ा हूँ बहुत गरीब परिवार से हूँ तो उसे जॉब पे रख लिया बेटर की जॉब पे रख लिया प्रफुल्ल ने 4 महीने जॉब की प्रफुल्ल कोई नाइ चीजो को सिखने में ज्यादा अच्चा लगता हैं तो जब भी कोई कम करते थे तो सबसे बहुत बारे पूछते थे ये कैसे होता हैं |

4.प्रफुल्ल ने सोचा कुछ अपना करते हैं लेकिन क्या करे ये बड़ी बहुत कंफ्यूज थे फिर मन में ख्याल क्यूँ न चाय की दुकान लगते हैं चाय एक ऐसी चीज हैं जो हर देश में लोग पसंद करते हैं फिर प्रफुल्ल ने पापा से 15.20 हजार रूपये लिए थे घर में बोला था मैं international कोर्स कर रहा हूँ फिर  प्रफुल्ल के एक एक करके सारा सामान इखठा किया और सोचा अब खोले दुकान लेकिन सामान तो 5 दिन कर लिया था पर खोलने में 50 दिन लग गया था प्रफुल्ल ने ऐसी जगह दुकान खोली थी जहा मच्छर हो नाली थी बगल में लोगो भी गुस्सा करते थे जिसने कभी घर में चाय नहीं बनाई और रोड पे दुकान खोले तो कैसे चलेगी पहले दिन अच्छी नहीं बनी दूसरे दिन भी नहीं बनी पर तीसरे दिन तो अच्छी बनी थी प्रफुल्ल ने दुकान तो खोली पर चलेगी कैसी पहले दिन कोई भी नहीं आया फिर वही दूसरे दिन हुआ फिर प्रफुल्ल ने गाडियों के पास जाके लोगो को चाय के लिए बोला और प्रफुल्ल MBAके स्टूडेंट तो इंग्लिश भी आती थी तो वो इंग्लिश में सबसे बात करते थर तो लोगो ने सोचा इतना पढ़ा लिखा होने के बाद भी चाय बेचा रहा हैं तो बहुत लोगो ने पूछा भी कौन हैं तो लोग धीरे धीरे आने लगे मैकडोनाल्ड के बाद 6 से 12 चाय की दुकान लगते थे |

5.प्रफुल्ल ने मैकडोनाल्ड छोड़ के एक प्राइवेट कॉलेज  MBA का एडमिशन ले लिया प्रफुल्ल ने 7 से 8 दिन तक पढाई की और छोड़ दी  पर करना बड़े कॉलेज था तो छोटे कॉलेज में मन कहा से लगता था घर वालो से भी झूट बोलते रहे हा पढाई करता हूँ ले लिया हैं उन्हें पता था  6 महीने तक एडमिशन ऐसे ही चलता रहा हैं एक दिन घर में पता चला एक डाक्यूमेंट्री वायरल हो गई उसे उन्हें पता चल गया था फिर क्या था वही ड्रामा घरवालो का जो सब के घर में होता हैं क्या सोचा था क्या किया |

प्रफुल्ल की सफलता 

अपनी दुकान खोली और माइक सेशन और बुक ड्राइव आयोजन किया वेलेंटाइन के दिन सिंगेल लोगो को free में चाय पिलाई तो इसे उनकी चाय की दुकान भी वायरल हो गई और धीरे धीरे शादियों के भी आर्डर मिलने लगे फिर एक छोटा सा कैफ़े खोला और पुरे भारत में अपनी फ्रेंचाइजी दी फिर उन्हें कॉलेज स्कूल भी इन्वेंट कराया और फिर रात दिन एक कर के सफलता पा ली हैं |

प्रफुल्ल के विचार

1.लक्ष्य बड़ा हैं तो संघर्ष भी बड़ा होगा | 
2.अगर आप खुद के धंधे में झाडू नहीं लगा सकते तो आपको उसका मालिक बनने का हक नहीं हैं |
3.कोई भी काम छोटा या बड़ा नही होता है | बस उस काम करने का तरीका बड़ा होता है |
4.जिस काम से प्यार करते हो उस काम से शादी कर लो |
5.दुनिया का सबसे बड़ा लौहार है टाटा, और दुनिया का सबसे बड़ा मौची है BATA काम तो दोनों ही लौहार और मौची का कर रहे |
6.सब्र का फल चाय होता है |
7.आप कोई भी काम करते हो उसमे अपना 101% दो |
8.जीवन में कुछ हो चाहे न हो पर खुद पे भरोसा हमेशा होना चाहिए 
 

Massage (संदेश) : आशा है की "एम.बी.ए चाय वाला की यात्रा | THE JOURNEY OF MBA CHAI WALA BIOGRAPHY IN HINDI |" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : jivansutraa@gmail.com

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here