India vs Australia: गंभीर ने कहा नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने के फैसले को लेकर विराट कोहली के लिए तालियां बजनी चाहिए

India vs Australia: गंभीर ने कहा नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने के फैसले को लेकर विराट कोहली के लिए तालियां बजनी चाहिए

India vs Australia: गंभीर ने कहा नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने के फैसले को लेकर विराट कोहली के लिए तालियां बजनी चाहिए

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली जा रही है। सीरीज का दूसरा मैच आज राजकोट के सौराष्ट्र क्रिकेट असोसिएशन स्टेडियम में खेला जाना है। टीम इंडिया को पहले मैच में 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुए उस मैच में कप्तान विराट कोहली नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने उतरे थे, जिसको लेकर उनकी काफी आलोचना भी हुई थी। टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और मौजूदा समय में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद गौतम गंभीर ने हालांकि इसके लिए विराट की तारीफ की है। उन्होंने कहा इस बात के लिए विराट की तारीफ होनी चाहिए कि उन्होंने खुद को बैटिंग ऑर्डर में नीचे ढकेला।

तीनों सलामी बल्लेबाजों को बैटिंग ऑर्डर में फिट करने के लिए विराट कोहली खुद नंबर-4 पर बल्लेबाजी के लिए आए थे। रोहित शर्मा और शिखर धवन ने पारी का आगाज किया था, जबकि केएल राहुल नंबर-3 पर बल्लेबाजी करने आए थे। कप्तान विराट ने वनडे सीरीज शुरू होने से पहले ही संकेत दिए थे कि वो अपने बैटिंग ऑर्डर में बदलाव कर सकते हैं। गंभीर का मानना है कि विराट का ये फैसला काफी बहादुरी भरा था। उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया में लिखे अपने कॉलम में कहा, 'मैं कई ऐसे मामले देख चुका हूं जिसमें बल्लेबाज अपने बैटिंग ऑर्डर को लेकर बहुत अड़ियल रहते हैं और अपना बैटिंग ऑर्डर छोड़ना नहीं चाहते हैं। ये ज्यादातर अपने फायदे की बात होती ना कि पूरे टीम की। ये बल्लेबाज अपनी बैटिंग पोजिशन को लेकर इतना अडिग रहते हैं कि कई बार टीम से बाहर भी होना पड़ जाता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए मुझे लगता है कि कप्तान विराट कोहली के लिए तालियां बजाई जानी चाहिए। मुंबई में रोहित शिखर और राहुल के लिए उन्होंने अपने बैटिंग ऑर्डर का त्याग किया।'

'मैंने 2011 विश्व कप में नंबर तीन पर बल्लेबाजी की'

विराट कोहली ने नंबर-3 पर बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं। इसके अलावा उनका औसत भी नंबर-3 पर बल्लेबाजी करते हुए काफी अच्छा है। नंबर-4 पर वो उतना सहज होकर बल्लेबाजी नहीं करते दिखे हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टी20 इंटरनेशनल मैच में विराट ने शिवम दुबे को नंबर-3 पर बल्लेबाजी के लिए भेजा था, इसके अगले मैच में उन्होंने ऋषभ पंत को तीन नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा था। गंभीर ने कहा, 'मेरे आलोचक कह सकते हैं कि एक बल्लेबाज एक बैटिंग ऑर्डर पर बल्लेबाजी करने को लेकर सहज हो जाता है और वो उसी तरह से अपनी बल्लेबाजी को देखता है, लेकिन फिर आपको फेल होने या टीम से बाहर होने का डर होता है। मैं इस बात से सहमत नहीं हूं। ये सबकुछ सामंजस्य बैठाने की बात है। अगर कोई सलामी बल्लेबाज तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आता है तो सोच सकता है कि गेंद ढंग से बल्ले पर नहीं आ रही है। ऐसा हो सकता है, लेकिन फिर अच्छे बल्लेबाज इस पर काम करते हैं। 2011 वर्ल्ड कप में मैंने नंबर-3 पर बल्लेबाजी की थी, हमें लगा था कि सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग की सलामी जोड़ी ज्यादा अच्छी है। ये टीम की बात होती है और आप देश के लिए खेल रहे होते हैं।'

'लीडर के तौर पर कुछ बड़े फैसले ले रहे हैं विराट'

गंभीर ने विराट कोहली की कप्तानी पर पहले भी सवाल खड़े किए हैं, हालांकि उन्होंने इस बार उनकी कप्तानी को लेकर कुछ अच्छी बातें कही हैं। उन्होंने कहा, 'लीडर के तौर पर विराट कुछ बड़े फैसले ले रहे हैं। वो ऐसी लेगेसी बनाना चाह रहे हैं, जहां सबसे पहले टीम के बारे में सोचा जाए। मैं विराट की कप्तानी का बड़ा फैन नहीं हूं लेकिन ये खिलाड़ी कम से कम अच्छे मकसद के साथ ऐसा करने की कोशिश तो कर रहा है।'

Massage (संदेश) : आशा है की "India vs Australia: गंभीर ने कहा नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने के फैसले को लेकर विराट कोहली के लिए तालियां बजनी चाहिए" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here