Linux क्या है, इसका इतिहास और फायदे | What is Linux and What its History and Benefits

Linux क्या है, इसका इतिहास और फायदे | What is Linux and What its History and Benefits

Linux क्या है, इसका इतिहास और फायदे

हेलो दोस्तों आपका फिर से स्वागत है हमारे मोटिवेशनल वेबसाइटस पर आज हम बात करने वाले है की linux क्या होता है और इसका इतिहास क्या है और हमने अगली बार बात की थी की Ethernet क्या है और किनते प्रकार के है? उम्मीद है आपको हमारा ब्लॉग जरूर से पसंद आया होगा। तो चलिए हम शुरू करते है आज का हमारा टॉपिक जो की है Linux क्या है, इसका इतिहास और फायदे।

Linux क्या है और इसकी उपयोगिता के बारे में सभी को पता है लेकिन जिन लोगो ने आज तक इसका इस्तेमाल नहीं किया है हम उन लोगो को What Is Linux In Hindi के बारे में बताएँगे।

यह भी Windows की तरह ही Computer का एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे 1991 में रिलीज़ किया गया था और आज यह पूरी तरह फ्री में उपलब्ध है।

Linux को आमतौर पर सभी Devices में इस्तेमाल किया जा रहा है साथ ही ये पूरे Internet Server में भी उपयोग में लाए जा रहे है और ये पूरी तरह से सुरक्षित और Error Free होने के कारण इसका बहुत अधिक इस्तेमाल हो रहा है। इसकी पूरी जानकारी आपको इस Post में मिल जाएगी।

आईये दोस्तों अब हम शुरू करते है Linux, के बारे में अगर आप इसकी पूरी जानकारी पाना चाहते है तो आप इस Post What Is Linux In Hindi को शुरू से अंत तक पढ़ें ,हमे उम्मीद है की इस पोस्ट में आपको Linux की पूरी जानकारी दी जाएगी।

लिनक्स क्या है?(What is Linux)

Linux Unix Based Operating System है।हम सभी Microsoft Windows, Apple Mac OS, Ios, Foogle Android इत्यादि जैसे अन्य Operating System से परिचित हैं ऐसे ही Linux भी एक Operating System है।Linux World Wide Web पर उपलब्ध है।Linux के Easy to Use Version Red, Head, Coral and Mandrake Version जैसी कई Company बनाती है।Red Linux Popular Version है यह जो GNOME Desktop Environment के साथ आता है. GNOME काम करने में बहुत अच्छा होता है यह Pictures को Screen पर Display करने के लिए सहायता करता है।

Linux Operating System का Open Source Code है।Linux को कुछ Restrictions के साथ Copy, Modifi, Redistribute किया जा सकता है।Linux Open Source Code है इसलिए विभिन्न Network कि Personal जरूरतों को पूरा करने के लिए Operating System को Customize किया जा सकता है. Linux User में इतना Popular इसलिए है क्योंकि यह बहुत Flexibility है।Linux में Unix के जैसे Solid, Mature Operating System जैसा Advantages तो मिलता है और इसके वैसे भी बहुत फायदे है क्योकि या बिल्कुल FREE.

90 के दशक के बाद से Linux हमारे चारों ओर है. इसका उपयोग Wristwatches से Supercomputers तक किया जा सकता है।यह हमारे Phones, Laptops, PC, Cars और यहां तक कि Refrigerators में भी हर जगह है।यह Developers और सामान्य Computer Users के बीच बहुत Famous है।

Linux का Owner कोन है?

चूँकि Linux की licensing open source है, इसलिए Linux किसी के लिए भी freely available है।लेकिन फिर भी “Linux” नाम का trademark उसके creator, Linus Torvalds को ही जाता है।Linux OS की source code का copyright बहुत से individual authors के नाम में जाता है, इसलिए इसे सामूहिक रूप से GPLv2 license के तहत रख दिया गया है।

क्यूंकि Linux के पीछे एक बहुत ही बड़े समूह का हाथ है जिन्होंने इसमें अपना योगदान दिया है और जिसे develop करने में बहुत साल लग गए, ऐसे में उन्हें individually संपर्क करना भी possible नहीं है इसलिए Linux के license को GPLv2 के अंतर्गत शामिल कर दिया गया है जिसमें सबकी सहमति शामिल है।

Linux की शुरुवात कैसे हुई?

Linux को Linus Torvalds ने सन 1991 में create किया था, जब वो एक university student थे University of Helsinki में।Torvalds ने Linux को एक free और Minix Os का open source alternative के तोर पर बनाया था, जो की एक दूसरा Unix clone था और जिसे मुख्य रूप से academic settings में इस्तमाल किया जाता था।

उन्होंने सबसे पहले इसका नाम “Freax” रखने का सोचा था लेकिन उस Server के administrator ने जिसे की Torvalds ने अपने Origonal code को distribute करने के लिए चुना थाm उसने उनकी directory का नाम “Linux” जो की एक combination था Torvalds’ के पहले नाम और Unix का।ये नाम सुनने में इतना अच्छा लगा की इसे बाद में और बदला नहीं गया।

Linux System के Components-

Linux Operating System के प्रमुख  रूप से तीन components होते हैं।

Kernel

System Library

3System Utility

kernel-

Kernel Linux का core part होता  operating system में जितने भी major activities होती है ये उन सभी के लिए responsible  रहता है। इसमें कई अन्य दुसरे  modules मौजोद रहते है और ये underlying hardware के साथ directly interact करती हैं।system or application programs तक Kernel low-level hardware details की  सारी जानकारी को kernel ही रोकता है।अगर सरल शब्दों में कहे तो कर्नेल abstraction के तरह व्यहार करता है।

System Library-

System libraries उन special functions या programs  को कह सकते है जिनका यूज़ कर हम  application programs या system utility Kernel के features को access कर सके। system Library libraries operating system के प्राय सभी functionalities को implement करती हैं।और इन्हें ऐसा करने के लिए kernel module’s code access rights की भी जरुरत नहीं पड़ती है।

 System Utility –

दुसरे specialized, और individual level tasks करने के लिए उत्तरदायी प्रोग्राम को  system utility कहते है।

Linux के Basic Features

  • Multiuser Capability - Linux एक Multiuser System है जिसका मतलब है की Multiple Users एक ही समय में इसके सभी System Resources जैसे की Memory, Hard Disk आदि को उपयोग कर सकें. लेकिन इनको Operate करने के लिए विभिन्न Terminals का उपयोग करना होगा।

  • Multitasking - Linux एक Multitasking System है जिसका मतलब है की CPU Time को बुद्धिमानी से विभाजित करके एक से अधिक Function एक साथ किये जा सकते है।

  • Portability - Portability का मतलब यह नहीं है कि यह File Size में छोटा है या Pen Drives या Memory Cards में ले जाया जा सकता है।इसका मतलब है कि यह विभिन्न प्रकार के Hardware का समर्थन करता है।

  • Security - Linux तीन तरीकों से सुरक्षा प्रदान करता है Authenticating Password और Login ID को Assign करके, Authorization Read, Write और Execute करने की Permission Assign करके और Encryption File को एक Unreadable Format में Converts करता है

  • Live CD/USB - Linux Distros Live CD/USB प्रदान करते हैं ताकि उपयोगकर्ता इसे Install किए बिना इसे चला सकें या कोशिश कर सकें।

  • Open Source - Linux Code सभी के लिए स्वतंत्र रूप से उपलब्ध है और यह एक Community Based Development Project है।

  • File System - Linux Hierarchical File System प्रदान करता है जिसमें Files और Directories Arranged की जाती है।

  • Application support - Linux का अपना software Store है जहां से उपयोगकर्ता कई Applications Download और Install कर सकते है।

  • Support's customized keyboard - Linux पुरी दुनिया भर में उपयोग किया जाता है इसलिए यह विभिन्न भाषाओं के keyboard का समर्थन करता है।

  • Graphical User Interface (X Window system) - Linux Command Line आधारित OS है लेकिन इसे Package Installation के आधार पर GUI में परिवर्तित किया जा सकता है।

Massage (संदेश) : आशा है की "Linux क्या है, इसका इतिहास और फायदे | What is Linux and What its History and Benefits" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here