Keyboard क्या है और कितने प्रकार के होते है? What is Keyboard and What its Types

Keyboard क्या है और कितने प्रकार के होते है? What is Keyboard and What its  Types

Keyboard क्या है और कितने प्रकार के होते है?

हेलो दोस्तों आपका फिर से स्वागत है हमारे मोटिवेशनल वेबसाइटस पर आज हम बात करने वाले है की Keyboard क्या है और कितने प्रकार के होते है? और हमने अगली बार बात की थी की Computer Virus क्या है और इसे ख़तम करने का तरीका और हमें उम्मीद है आपको हमारा ब्लॉग जरूर से पसंद आया होगा। तो चलिए हम शुरू करते है आज का हमारा टॉपिक जो की है Keyboard क्या है और कितने प्रकार के होते है?

इस Post में हम आपको Computer Ke Keyboard Ki Jankari Hindi Me बताएँगे, I Hope Friends आपको हमारी सभी Post पसंद आ रही होगी, और हम उम्मीद करते है आप इसी तरह हमारी सभी Post पसंद करते रहे|

Keyboard का Use तो आप सभी ने किया ही होगा, Typing करने के लिए या Computer का कोई सा भी Work करने के लिए, लेकिन क्या आप जानते है Computer Keyboard Kya Hai अगर आप नही जानते तो आज की Post Information About Keyboard In Hindi में आपको इसकी पूरी जानकारी मिल जाएगी|

आप भी किसी ना किसी प्रकार से Computer का Use करते ही होंगे, आज अधिकतर काम Computer से ही किये जाते है, Computerबहुत ही कम लोगो को पूरी तरह से Keyboard Ke Bare Me Jankari होगी अगर आप भी Keyboard Ki Jankari प्राप्त करना चाहते है तो आज की हमारी इस Post Computer Keyboard In Hindi में आपको इसकी पूरी जानकारी मिल जाएगी तो आइये दोस्तों जानते है Keyboard In Hindi के बारे में|Keyboard का Use आज बहुत सी जगह पर किया जा रहा है लेकिन Computer की ऐसी बहुत सी Device है जिनके बारे में आप नहीं जानते है इनमे से एक है Keyboard भी है।

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या है (What is Keyboard in Hindi)

Keyboard एक Input device है।इसका इस्तमाल मुख्य रूप से computer में commands, text, numerical data और दुसरे प्रकार के data को enter करने के लिए किया जाता है।एक user computer के साथ बातचीत करने के लिए input devices जैसे की keyboard और mouse का इस्तमाल करते है।

इसके बाद ये entered data को machine language में बदल दिया जाता है जिससे की CPU उस data और instructions को समझ सके जो की input devices से आ रहा है।

कैसे Keyboard को Computer के साथ connect किया जाता है

यदि हम पहले समय की बात करें तब Keyboard को computer के साथ connect करने के लिए PS/2 या serial connector का इस्तमाल किया जाता था।लेकिन यदि में अभी की बात करूँ तब अभी USB (universal serial bus) और wireless connectors का इस्तमाल किया जाता है।

इन्हें connect करना अब बहुत ही आसान हो गया है। Wiress Keyboard का जो disadvantage है वो ये की इसमें हमें बार बार battery बदलना पड़ता है. वरना ये ज्यादा portable है दुसरे keyboards की तुलना में।

कीबोर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं?

हम अक्सर यही सुनते हैं की कॉम्पटर में एक महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस है जिसके बिना काम करना मुमकिन ही नहीं होताऔर इस का नाम बस यही जानते हैं की ये कीबोर्ड होता है लेकिन क्या आप जानते हैं की इसे हिंदी में क्या कहा जाता है।

नहीं मालूम न ?

कंप्यूटर कीबोर्ड को हिंदी में कुंजीपटल कहते हैं।

कंप्यूटर कीबोर्ड कैसे काम करता है?

ये एक इनपुट डिवाइस के साथ ही एक हार्डवेयर डिवाइस भी होता है जो यूजर द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार काम करता है।ये circuits, switches और processors से मिलकर बना हुआ होता है जिसकी मदद से टाइप किया जाने वाला हर keystroke message कंप्यूटर तक पहुँचता है।आप ये नहीं समझना की मैं CPU के प्रोसेसर की बात कर रहा हूँ बल्कि कीबोर्ड में इसका अपना खुद का भी प्रोसेसर होता है.जो हर इनफार्मेशन को सिस्टम तक पहुंचाता है।

जब हम कुंजीपटल में कुछ भी टाइप करते हैं मान लीजिये की मैंने A टाइप किया तो इससे एक switch press होता है।स्विच के press करने से circuit पूरा हो जाता है और एक हलकी सी current flow कर जाती है।जब स्विच को हम दबाते हैं तो इसकी वजह एक घनघनाहट पैदा होती है जिसे bounce के नाम से जाना जाता है जिससे processor तक ये पहुँच जाता है।इस cicuit system के एक बड़े पार्ट से Key matrix बनता है।बटन जिसे हम टाइप करते हैं उसके निचे छोटे छोटे बटन के आकर के सांचे जैसे grid बने होते हैं इसे ही key matrix कहा जाता है।

जब प्रोसेसर को ये पता चल जाता है की एक circuit close हो चूका है तब ये ROM में स्थित character map से key matrix के circuit के location की तुलना करता है।Character map एक तुलना करने वाला चार्ट होता है. जो हर butoon key की location processor को बताता है. इसके साथ ही ये keystroke के combination की matrix location भी बताता है।जैसे कभी कभी हम Shift और Control बटन के साथ दूसरे alphabets को press करते हैं यही combination of keystrokes होता है।

इस तरह जब हमने A  press किया तो एक current flow होगी जो vibration पैदा करेगी जिसका पता processor को चल जायेगा अब वो key matrix में इस के circuit के location को ROM के character चार्ट से करेगी फिर इसे पता चल जायेगा की कौन सा बटन प्रेस हुआ इस तरह ये तुरंत आउटपुट में A लिख कर डिस्प्ले कर देगा।

1. QWERTY Keyboard Layout

यह सबसे ज्यादा प्रचलित और उपयोग होने वाला कीबोर्ड लेआउट है।इसे दुनियाभर में अपनाया गया है।और आधुनिक कम्प्युटर कीबोर्ड में इसी लेआउट को ही इस्तेमाल किया जाता है।

कीबोर्ड की बनावट – Types of Keyboard Layouts in Hindi

एक कीबोर्ड पर कुंजीयों (Keys) की विशेष जमावट को ही कीबोर्ड लेआउट कहते है।कीबोर्ड लेआउट ही कीबोर्ड की बनावट, आकार तथा प्रकार को निर्धारित करता है।

आज कम्प्युटर कीबोर्ड के विभिन्न लेआउट उपलब्ध हैं।दुनिया के अलग-अलग देशों ने अपनी भाषा और लिपि के अनुसार Keyboard Layouts विकसित किये हैं।

हम इन सभी कीबोर्ड लेआउट को मोटे तौर पर दो वर्गों में बांट सकते है।

  1. QWERTY Keyboard Layout
  2. Non-QWERTY Keyboard Layout

QWERTY Layout पर आधारित कुछ अन्य Keyboard Layouts:

  • QWERTY
  • QWERTZ
  • AZERTY
  • QZERTY

2. Non-QWERTY Keyboard Layout

जिन कीबोर्ड में QWERTY Layout को कुंजीयों की जमावट के लिए इस्तेमाल नही किया जाता हैं, उन्हे Non-QWERTY Keyboard कहते हैं. कुछ Non-QWERTY Keyboard Layouts.

  • Dvork
  • Colemak
  • Workman

Type of Keyboard Keys – कीबोर्ड में स्थित कुंजीयों के नाम और प्रकार

‘QWERTY’ Layout अब तक का सबसे प्रचलित और दुनियाभर में अपनाया गया पैटर्न है।और इस Lesson में भी इसी प्रकार के Keyboard को उपयोग करना बता रहे है।

आइए, जानते है एक Keyboard में कुल कितनी Keys होती है? कीज का नाम और प्रकार तथा इनका क्या उपयोग है?

एक सामान्य Keyboard में कुल 104 Keys होती है।तथा इनकी संख्या Keyboard Manufactures और Operating System पर भी निर्भर करती है. इसलिए मोटे तौर पर हम कह सकते है कि एक QWERTY Keyboard में लगभग 100 Keys (±) होती है।

की-बोर्ड में मौजूद प्रत्येक कुंजी का अपना विशेष कार्य होता है।और इसी कार्य के आधार पर इनको निम्न छह श्रेणीयों में बाँटा गया है. जिनका वर्णन इस प्रकार है।

  1. Function Keys
  2. Typing Keys
  3. Control Keys
  4. Navigation Keys
  5. Indicator Lights
  6. Numeric Keypad

कंप्यूटर कीबोर्ड शॉर्टकट Keys – Computer Keyboard Shortcut in Hindi

जब भी हम कंप्यूटर में  काम करते हैं तो उसके लिए इनपुट डिवाइस का इस्तेमाल कर के अपना डाटा कंप्यूटर में डालते हैं और उसे काम करने के लिए निर्देश देते हैं. इस में कीबोर्ड और माउस सबसे प्रमुख है।फिर भी हर इंसान में काम करने क्षमता अलग अलग होती है और काम करने की गति भी भिन्न होती है।

कंप्यूटर में काम करने वाला आदमी जब इस के शॉर्टकट keys की जानकारी रखता है तो उसे काम करना और भी आसान हो जाता है ऐसे में हर वक़्त माउस पकड़ने की जरुरत नहीं पड़ती बल्कि इस से ही सारा काम कर सकते हैं।अब हम इस के ऐसे ही shortcut keys के बारे में जानेंगे जो हमारे काम को और आसानी और जल्दी से पूरा करने में हमारी बहुत मदद करते हैं।

 

Shortcut Keys Keys Description
F1 Help इनफार्मेशन देखने के लिए इस के का इस्तेमाल करते हैं।
F2 किसी फाइल का नाम बदलने के लिए F2 का इस्तेमाल करते हैं।
F5 जो भी प्रोग्राम का विंडो खुला होगा उसका पेज refresh करता है।
Alt+Tab खुले हुए एक प्रोग्राम से दूसरे प्रोग्राम में के के लिए काम करता है।
Alt+F4 किसी भी Active प्रोग्राम को बंद करता है।
Ctrl+A पेज के सभी कंटेंट को एक बार में सेलेक्ट करता है।
Ctrl+B सेलेक्ट किये हुए text को bold करता है।
Ctrl+C सेलेक्ट किये हुए text को copy करता है।
Ctrl+D खुले हुए वेबपेज को bookmark करता है।
Ctrl+E सेलेक्ट किये हुए Text को center में ले जाता है।
Ctrl+F Find विंडो खोलने के लिए प्रयोग करते हैं।
Ctrl+G ब्राउज़र और वर्ड प्रोसेसर में Find विंडो ओपन करता है।
Ctrl+H माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, नोटपैड और वर्डपैड में Find & Replace का विंडो ओपन करता है।
Ctrl+I लिखे हुए text को italic करता है।
Ctrl+J ब्राउज़र में हो रहे डाउनलोड विंडो में जाने के लिए प्रयोग करते हैं और माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में Justify alignment set करता है।
Ctrl+K माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और HTML editor में highlighted text का Hyperlink बनाता है।
Ctrl+L Text को left side में align करता है और browser का address bar select करता है।
Ctrl+M वर्ड प्रोसेसर प्रोग्राम में सेलेक्टेड text को indent करता है।
Ctrl+N नया पेज या नया डॉक्यूमेंट बनाता है।
Ctrl+O लगभग हर तरह प्रोग्राम में File या document को ओपन करता है।
Ctrl+P डॉक्यूमेंट को प्रिंट करने के लिए Print विंडो ओपन करता है।
Ctrl+R Text को right side align करता है. ब्राउज़र के पेज को reload करता है।
Ctrl+S file या document को लोकल ड्राइव में परमानेंटली save करता है।
Ctrl+T इंटरनेट ब्राउज़र में नया tab खोलता है।
Ctrl+U Text को underline करता है।
Ctrl+V Copy किये हुए file, text document को paste करता है।
Ctrl+W ब्राउज़र में tab और वर्ड में document को करता है।
Ctrl+X सेलेक्ट किये हुए text या किसी फाइल cut करता है।
Ctrl+Y किसी भी action को Redo करता है।
Ctrl+Z किसी action को Undo करता है।
Shift+Del किसी फाइल को परमानेंटली डिलीट करता है।
Home लाइन के शुरुआत में जाने के लिए।
Windows+R Run command बॉक्स ओपन करता है।

Massage (संदेश) : आशा है की "Keyboard क्या है और कितने प्रकार के होते है? What is Keyboard and What its Types" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here