Google क्या है और किसने बनाया है? |What is GOOGLE and

Google क्या है और किसने बनाया है? |What is GOOGLE and

Google क्या है और किसने बनाया है?

आप में से कितनो को पता है के Google क्या है.आज से 15 से 20 साल पीछे चले जाएँ तो तब Internet तो था लेकिन तब information की काफी कमी थी. Information लोगों के पास था लेकिन वो net में इतना नहीं था. आज जैसे आप भी बहुत कुछ net में ढूंडते तो, वैसे ही 10 से 15 साल पहले लोग किताबों में, या फिर किसी से पूछ के जानकारी हासिल करते थे.

लेकिन लोगों से पूछ के जानकारी हासिल करना बोहत ही बड़ी समस्या थी उस दोर में, इसके साथ तब कुछ website भी थी लेकिन कोनसी website में कोनसी जानकारी सही है, या जल्दी से कोई जानकारी मिल जाए जैसी बोहत सी समसया थी.

तभी उसी वक्त दो नोजवान लड़के इस समस्या का समाधान लेके अये उसका समाधान Google के जरिये हुआ और वो लड़के कोन थे. गूगल क्या होता है, किसने बनाया है और कैसे Google की सुरुवात हुई, कुछ और जानकारी मैं आपको दूंगा तो चलिए सुरु करते हैं.

गूगल क्या है – What is Google in Hindi

गूगल एक अमेरीकी बहुराष्ट्रीय सार्वजनिक कम्पनी है, जिसने इंटरनेट सर्च, क्लाउड कम्प्यूटिंग और विज्ञापन तंत्र में पूँजी लगायी है.

गूगल दुनिया की सबसे बड़ी Search engine है. इसमें आप कुछ भी Search करोगे आप को जरुर मिल जाये गा. यह तो आम तोर पर हर कोई सोचता है लेकिन इसका जवाब यहाँ पे ख़तम नहीं होता इसका सही जवाब है “ये एक Multinational Company है, Search Engine के साथ साथ इसके कुछ और business है जैसे Internet Analytics, Cloud Computing की सेवा भी देती है.

उदाहरण के लिए आप इस्तेमाल करते है Google drive, बिज्ञापन सेवा, application (play Store से जो application आप download करते हो), इसका अपना खुद का ब्राउज़र है Chrome नाम का, और अपना खुद का Operating System (Android), इन सभी के जरिये Google अपना Income करती है.

2016 में इसने अपनि दिलचस्पी Mobile Industry के उपर दिखायी और एक नया Mobile लेके आई जिसका नाम है Google Pixel जो की market में छा गया. इसके साथ साथ Map, e-mail और 20 से भी ज्यादा Product दुनिया में हैं जिनके बारे में आज आगे आपको बताऊंगा.

आप इस Company की Income के बारें में जानो गे तो आपके होस उड़ जायेंगे फिर भी जान लें की ये एक दिन में $ 1 Million US Dollar कमाती है और मतलब की करीबन 6,85,22,50,000 रूपया. क्या आप ये जानना चाहोगे की Google का इतिहास क्या है तो चलिए जानते हैं.

गूगल नाम कैसे चुना गया?

Edward Kasner और James Newman के द्वारा लिखे गए किताब Mathematics and Imagination में लिखे गए शब्द googol के से प्रेरित होकर Larry Page और Sergey Brian ने अपने सर्च इंजन का नाम चुना. Googol का मतलब होता है 1 के पीछे 100 zero.

गूगल का इतिहास – History of Google in Hindi

वैसे आज के वक्त में Google एक अरबो खरबों की company है, जिसने Oxford Dictionary में अपनि खुद की जगह बना राखी है, जो की एक क्रिया है.

गूगल की खोज किसने की?

लेकिन इसको बनाने में दो PHD Students का हाथ था जिनका नाम है Sergey Brin और Larry Page जो की Stanford University, California के छात्र थे, 1995 में वे वहीँ पे आपस में मिले थे और वही से इस Search engine की सुरुवात हुई.1996 में Sergey Brin और Larry Page जब PHD पढाई कर रहे थे उन्होंने अपना PHD का reSearch project में कुछ अलग करने की सोची और वो सोचे थी “अगर हम Website को Rank करें दुसरे website के साथ तुलना करके, तो काफी अच्छा होगा, उस वक्त उनका रैंक करने का तरीका ये था, जितनी बार Search किया गया सब्द, उस webpage में होगा उस हिसाब से वो rank करगें और यही कल्पना आज Google का रूप है. सुरुवात में उन्होंने इसका नाम BACKRUB दिया था.”

1997 में दोनों ने Search engine का नाम “Google” दिया जो की “googol” है हकीकत में, ये एक mathematical सब्द है और Google इस googol को गलत लिखने से बना ये अजब सचाई है. googol का मतलब है 1 के पीछे 100 zero.

1998 में ही Google का पहला doodle homepage बना था, लेकिन अब Google 2000 से भी ज्यादा doodle home page बदलता है पुरे दुनिया में, और अभी के समय में doodle की एक team है.

सन 2000 में AdWords की सुरुवात की, और अब Google Online Advertisement की सेवा देने वाली दुनिया की सबसे बड़ी company है, जो की बड़े बड़े business को successful बना दी है. text ad, Video ad और mobile ad की सेवा देती है और इसके बदले में पैसा लेती है.

2004 April Fool वाले दिन इस company ने Gmail को launch किया, इसके साथ Gmail Data Store करने के लिए अच्छा खासा space भी दिया था और अब के समय में और भी ज्यादा दे रहा है.

Google ने 2004-05 में एक Map बनाने वाली Company Keyhole को खरीद ली और आज के वक्त यही Map Company Google Map नाम से जनि जाती है जो रास्ता दिखाने में, नयी जगह की जानकारी और earth App के जरिये 360 Degree View देख सकते हो घर बैठे.

2006 में इस Company ने एक बोहत खास Video Sharing Website Youtube को खरीद लिया. अभी के समय में 60 घंत्गे के Video हर एक मिनट में upload हो रहे है.

2007 Android को ख़रीदा और ये अभी के समाय का mobile device का सबसे अच्छा operating System है.

2008 में अपना खुद का browser chrome को market में आया, officially september 2 2008 को launch हुआ, ये एक दुनिया का सबसे पसंदीदा browser है.

2011 में Larry Page Google के नए CEO बने उनसे पहले Eric Schmid थे वो अब executive chairman है alphabet के.

2011 में ही Google+ project की सुरुवात हुई, इसमें रियल लाइफ sharing feature था जैसे facebook, twitter

2012 में android 4.1 jelly bean का अपडेट आया, Google nexus 7 tablet को launch किया गया .

July 9, 2012 Google Now और Google Voice Search Feature की सुरुवात हुई अब ये Google Assistant बन चूका है.

2013 में Google Glass Market में आया. जिसमे चश्मे के जरिये आप अपने Mobile को चला सकते हो.

2015 में VR HEAD SET की सुरुवात हुई थी, अभी ये काफी लोक प्रिय हो चूका है.

2016 में Google Loon Project की सुरुवात हुई जिससे जहाँ जहाँ internet नहीं पोहंचता वहां पर Internet को पोहंचाया गया और इसी साल Google का पहला Mobile फ़ोन Pixel Launch किया गया था.

Google Home की सुरुवात भी 2016 में ही हुई थी, जिसके जरिये आप घर के सारे Electronic Device बोल के चला सकते हो इसके साथ कुछ सवालो के जवाब भी आप जान सकते हो.

2017 में Google के Google i/o में Google.ai को Launch किया गया जहाँ पे आपको AI Tools मिलेंगे और इसके साथ Google Lens की भी सुरुवात हुई जिसके जरिये आप किसी की भी फोटो को लेके आप जान सकते हो वो है क्या ???

तो ये था अब तक का Google का इतिहास तो आगे भी इसे Google आगे चलता रहेगा देखते है क्या कुछ नया लेके आयेगा.

Google Full Form In Hindi

GOOGLE KA FULL FORM – “GLOBAL ORGANIZATION OF ORIENTED GROUP LANGUAGE OF EARTH” होता है|

Google Ka Malik Kaun Hai

Google Ke Malik – Sergey Brin (सर्गेई ब्रिन) और Larry Page (लैरी पेज) है |

गूगल के CEO कौन है?

गूगल के CEO भारतीय मूल के सुन्दर पिचाई हैं.  जब कोई इंसान दुनिया के ऑनलाइन इतने बड़े कंपनी में काम करता है तो जरा सोचिये की उनकी साल भर की कमाई कितनी होगी. जी हाँ आप भी जानकार चौंक जायेंगे की सुन्दर पिचाई की हर साल करीब 1200-1300 करोड़ रूपये की कमाई होती है.

गूगल किस देश की कंपनी है?

कई लोगों के मन में ये सवाल अक्सर आता है की गूगल किस देश की कंपनी है. इस में आपको कंफ्यूज होने की बिलकुल भी जरुरत नहीं है  क्यों की आज आप इसके बारे में जान जायेंगे. गूगल अमेरिका की कंपनी है जो इसके राज्य कैलिफ़ोर्निया में स्थित है.

गूगल भारत में किस तरह पॉपुलर हुआ?

वैसे तो इस अमेरिकन कंपनी ने पुरे भारत में अपना सिक्का जमा रखा है लेकिन क्या सभी को पता है की ये भारत में कब से इस्तेमाल होना शुरू हुआ है.

शायद नहीं..

इंटरनेट को भारत में आये हुए 24 साल हो गए हैं. पहली बार 15 अगस्त 1995 को भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल किया गया था. लेकिन जब मैं पहली बार इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए एक साइबर कैफ़े गया तो वहां पर मुझे सुनने को मिला की याहू में ईमेल ID बनाना पड़ेगा. उस वक़्त हमारे देश में याहू काफी प्रसिद्ध हुआ करता था और सब उसी का इस्तेमाल करते थे. चैटिंग करने के लिए भी लोग याहू चैटरूम का इस्तेमाल करते रहते हैं. इंटरनेट या साइबर कैफ़े में उस वक़्त हर घंटे के 10-20Rs  चार्ज देने पड़ते थे. उस वक़्त इंटरनेट का इस्तेमाल सिर्फ कंप्यूटर सिस्टम में ही करने  सुविधा थी. टेलीफोन लैंडलाइन के जरिये ब्रॉडबैंड इंटरनेट चलता था. उस वक़्त भारत में विदेश संचार निगम लिमिटेड इंटरनेट की सुविधा लेकर आया.

पहली बार  गूगल के बारे में तब पता चला एयरटेल की तरफ से मिलने वाले मोबाइल में मोबाइल ऑफिस के नाम से सेटिंग को सेव करना होता था. उसके होमपेज में google.com का address डालना होता था. उसी वक़्त से मैंने गूगल को जाना और इस तरह एयरटेल प्रयोग करने वाले हर यूजर को गूगल के बारे में पता चलने लगा.

जैसा की हम हर दिन देख रहे हैं गूगल नई नई सेवाएं ला रहा है. हर साल ये कुछ न कुछ नयी सेवा जरूर लेकर आता है. चलिए जानते है की गूगल किस तरह पूरी दुनिया में छा चूका है.

गूगल अपनी कमाई कैसे करती है – How does Google earn in Hindi

गूगल अपनी किसी भी सेवा को लोगों को देने के लिए पैसे चार्ज नहीं करता. भले आप इसके सर्च बॉक्स में जाकर जो भी सर्च  करो आपको ये उसके वेबसाइट तक पहुंचा देता है, यूट्यूब में अनगिनत वीडियोस देखते हैं (paid छोड़कर) प्ले स्टोर से मनचाहा एप्प  डाउनलोड करते हैं, मेल भेजने और रिसीव करने के लिए जीमेल सेवा ये सभी बिलकुल मुफ्त में हमे मिलता है.

सोचने वाली बात ये है की आखिर इतनी सारी अनगिनत सेवाएं देने के बावजूद भी गूगल कमाई करने में नंबर 1 कैसे है?

तो इसका जवाब है इसकी कमाई का जरिया भी आप ही हैं. जी हाँ “आप” वो कैसे चलिए मैं आपको समझाता हूँ. गूगल एक बहुत advertising कंपनी है और इसके सबसे बड़े प्रोडक्ट आप ही हैं. इसकी 96% जो कमाई होती है वो advertisiment यानि विज्ञापन के माध्यम से ही होता है. हर दिन गूगल सर्च क्वेरीज के रूप में 1 billion रिजल्ट पूरी दुनिया के लोगों को दिखाता है. इसके साथ ही ये कई billion विज्ञापन भी साथ में लोगों को दिखाता है.  का राज़ इनके काम करने के scale में छुपा हुआ है.

जब आप ऑनलाइन किसी प्रोडक्ट के बारे में सर्च करते हैं और वहां से वापस भी आ जाते हैं तो वो उसे sense कर लेता हैं और आप जब तक ऑनलाइन रहेंगे वो आपके इंटरेस्ट के अनुसार  पर आधारित विज्ञापन दिखाएंगे और इस तरह आप उस प्रोडक्ट या फिर सेवा को खरीद लेते हैं. दुनिया में इतनी जनसँख्या है और हर हर कोई अपने सभी कामों को ऑनलाइन करने की सोचते हैं. वो आपकी इंटरेस्ट को समझकर आपकी सेवा में लग जाता है और जहाँ भी जाते हैं आपके इच्छा के अनुसार recommendation देता है. ये  विज्ञापन या advertisiement सेवा कैसे देती है चलिए इस पर एक नज़र डाल लेते हैं.

Google Ads/Adwords

कंपनियां अपनी सेवा को लोगों तक पहुँचाने के लिए सर्च रिजल्ट में खुद का प्रचार करना चाहते हैं. वो Ads में जाकर अपनी कंपनी से जुड़े सभी जानकारी देते हैं फिर सर्च रिजल्ट के माध्यम से कंपनी की केटेगरी के अनुसार उनके विज्ञापन उनमे इंटरेस्ट रखने वाले लोगों को दिखाए जाते हैं. जिन में लोगों के क्लिक करने के बाद ही उसे पैसे मिलते हैं.

Google Adsense

एडसेंस पब्लिशर को ये अनुमति देता है की वो इससे जुड़ सके और अपने वेबसाइट पर विज्ञापनों को लोगों को दिखाये. आज कल बहुत सारे न्यूज़ वेबसाइट और ब्लॉगर अपनी वेबसाइट में इसके विज्ञापन को दिखाते हैं. इस तरह के advertisement में cost per thousand impression के रूप में पैसे लेती है. साथ ही पब्लिशर को भी इसमें कुछ शेयर मिलता है.

Backrub, Pagerank और सर्च रिजल्ट की शुरुआत

इन सब की शुरुआत 1995 के गर्मी के मौसम में हुई थी जब Larry Page और Sergey Brian की मुलाक़ात स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुई. वैसे दोनों ही बहुत इंटेलीजेंट थे इसीलिए उस वक़्त उन के विचार मिलते नहीं थे लेकिन फिर भी दोनों काफी डिस्कशन करते थे. और अंत में दोनों का झगड़ा पार्टनरशिप पर आकर के ख़तम हुआ.

दोनो ने मिलकर सर्च इंजन बनाया जो पेज को रैंक देने के लिए बैकलिंक को जरुरी मानते थे. इसीलिए उन्होंने इसे BACKRUB नाम दिया. ये उन पेजेज को हाई रैंक देता था जो शब्द (words) सबसे ज्यादा बार सर्च किये जाते थे और वो जिस पेज में होते थे. इसके अलावा भी ये उन पेजेज को रैंक देते थे जिन के बैकलिंक्स अधिक होते. 1997 में दोनों ने BACKRUB का नाम बदल के Googol शब्द से प्रेरित होकर जैसा की हमने पहले ही बताया है, Google कर दिया. अगस्त 1998 में SUN Microsystems के Andy Bechtosheim ने Larry और Brian को $100000 का चेक दिया जिससे ऑफिसियल Google Inc. कंपनी बनी और garage से निकल के अपने पहले ऑफिस तक पहुंची. फिर 1998 में अपना पहले Doodle लांच किया जो  Burning Man festival in Navada के रूप में था. तब से लगातार ये नए थीम्स और सेलेबटरेशन Doodle के रूप में हमें दिखता है.इस ने 2001  में अपना पहला इंटरनेशनल ऑफिस टोक्यो में बनाया और फिर 3 साल बाद नया हेडक्वॉर्टर बना जिसे आज हम Googleplex के नाम से जानते हैं.

इसके बाद से कंपनी ने पीछे मुड़ के कभी नहीं देखा. इसने एक के बाद एक नयी सेवाएं लांच की जो सिर्फ users के फायदे के लिए थी. इसी में जीमेल सर्विस भी शामिल है. जिसमे डाटा स्टोर करने के लिए काफी स्पेस दिया गया.

2005 से ये लगातार नयी नयी सर्विस लांच करता रहा है जैसे Maps और Analytics और 2006 में गूगल Calender और Translator. इस की मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्राइड 2007 में लांच की गयी. और अभी सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले ब्राउज़र क्रोम को 2008 में शुरू किया गया.इसी बीच गूगल ने सबसे बड़े वीडियो शेयरिंग वेबसाइट यूट्यूब को 2006 में खरीदकर अपने बिज़नेस को और आगे बढा दिया.

इस ने एक लैब को लांच किया जिसे गूगल X  के नाम से जाना जाता है, जो delivery drones और self driving cars को डेवेलोप करने का काम करती है.इस तरह ये दुनिया का सबसे पॉपुलर सर्च इंजन बन गया. यहाँ तक की गूगल शब्द को लेक्सिकन में एक “Verb” के रूप में शामिल किया गया. इसका मतलब होता है “वर्ल्ड वाइड वेब में कुछ सर्च करना.”

गूगल के फायदे – Advantages of Google in Hindi

  • हमे हर तरह की जानकारी हमे अपने स्मार्टफोन में आसानी से मिल जाती है बस हमे सर्च बॉक्स में लिखना है की हम किसकी जानकारी लेना चाहते हैं.
  • अगर हमे किसी नए जगह में जाना होता है तो गूगल मैप की मदद से उस जगह पर बिना किसी परेशानी के पहुँच सकते हैं.
  • अगर हम कोई बिज़नेस करते हैं और उसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाना चाहते हैं तो इसके ads के माध्यम से अपने बिज़नेस को फैला सकते हैं.
  • यूटूबर, ब्लॉगर, मोबाइल एप्प डेवलपर इसके माध्यम से अपने कंटेंट को लोगों तक पहुंचा के पैसे कमा सकते हैं.

Massage (संदेश) : आशा है की "Google क्या है और किसने बनाया है? |What is GOOGLE and " आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : [email protected]

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here