Ethernet क्या है और किनते प्रकार के है? What is Ethernet and How Many Types of it

Ethernet क्या है और किनते प्रकार के है? What is Ethernet and How Many Types of it

Ethernet क्या है और किनते प्रकार के है?

हेलो दोस्तों आपका फिर से स्वागत है हमारे मोटिवेशनल वेबसाइटस पर आज हम बात करने वाले है की ईथरनेट क्या होता है और इसके कितने प्रकार होते है और हमने अगली बार बात की थी की Computer Virus क्या है और इसे ख़तम करने का तरीका उम्मीद है आपको हमारा ब्लॉग जरूर से पसंद आया होगा। तो चलिए हम शुरू करते है आज का हमारा टॉपिक जो की है ईथरनेट क्या है और इसके कितने प्रकार होते है।

Ethernet kaise kaam karta hai इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको पूरी जानकारी देंगे। हम आपको इसके बारे बहुत आसान भाषा में बतायेंगे आशा करते है की आपको हमारी पिछली पोस्ट की तरह हमारी आज की पोस्ट What is Ethernet Cable in Hindi? भी ज़रूर पसंद आयेगी।

Internet को हमारी दुनिया में आए हुए काफी समय हो चुके है और उसके साथ बहुत सी Technology भी आई है उसमे से एक Technology है Ethernet, ये आपको शायद ही पता हो की जहाँ पर भी Internet है वहाँ पर Ethernet भी होता है आपने LAN (Local Area Network) के बारे में तो सुना होगा जब भी इस Network की बात होती है तब आपने Ethernet का नाम ज़रूर सुना होगा।

Ethernet वह तकनीक है जो आमतौर पर Wide Local Area Network (LAN) में उपयोग की जाती है LAN Computer और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का एक Network है जो एक घर, ऑफ़िस, बिल्डिंग जैसे छोटे एरिया को कवर करता है। Ethernet एक Network प्रोटोकॉल है जो यह नियंत्रण करता है की LAN पर डाटा कैसे Transfer किया जाए तकनीकी रूप से इसे IEEE 802.3 प्रोटोकॉल के नाम से जाना जाता है।

आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए Types Of Ethernet In Hindi के बारे बतायेंगे। तो दोस्तों क्या आप Ethernet क्या है Ethernet कैसे काम करता है और ये कितने प्रकार का होता है जानना चाहते है तो बने रहिए सारी जानकारी पाने के लिए हमारी आज की पोस्ट के साथ शुरू से अंत तक।

ईथरनेट क्या होता है?(What is Ethernet)

Ethernet का उच्चारण Ether+Net से किया जाता है यह एक Local Area Network Technology है इस Technology की मदद से Computers और Networking Devices को आपस में Connect किया जाता है और Information को Share किया जाता है इस Ethernet Technology की मदद से ही LAN में अलग-अलग Computer आपस में Information Share कर पाते है।

इस तरह का काम Ethernet Protocol का काम होता है जैसे- Information किस Format में Transmit होगी जिससे की वो एक LAN में Information को अच्छे से दूसरे Computers तक पहुँचा सके वो भी बिना Error के।Ethernet LAN Networking Device के बीच में Information को Share करवाता है।

Ethernet Technology में आप Cables की सहायता से Computers को Connect करते है सबसे पहले Ethernet Technology में Coaxial Cables ही इस्तेमाल की जाती थी पर अब इसमें Twisted Pair और Fiber Cables भी इस्तेमाल की जाती है। Ethernet Technology के साथ LAN कई प्रकार से बना सकते है जिसे Topology कहते है जैसे- Bus, Star, Ring और Mesh Topology आदि बना सकते है।

Ethernet का इतिहास (History of Ethernet in Hindi)

सुरुवात में Ethernet को Alto Aloha Network बोला ज्याता था. इसको बनाने वाली company का नाम है Xerox PARC. जिसको सन 1973 में Robert Metcalfe ने इजात किया था कुछ और लोगों के साथ मिलके. ये एक पहला network था जो की CSMA/CD (Carrier Sense Multiple Access / Collision Detection) Technology का इस्तेमाल करता था. Ethernet तब से अब तक का सबसे तेज और भरोसेमंद network रहा है. जो की अब तक हर जगह मोजूद है. सन 1980 तक ये दुनिया के हर कोने में इस्तेमाल होने लगा था।

Ethernet सुरुवाती दोर में अथिकतम 10 Mega bits per second की speed से चलता था।उसकेबाद बदलते Technology की वजह से 100Mbps की speed से ये काम करने लगा जिसको Fast Ethernet बोला गया. बादमे 1000Mbps जिसको gigabit Ethernet बोला गया और 10 gigabit Ethernet तक अब speed है।जो की अब दोर का सबसे तेज है।आम तोर पर Ethernet cable की लम्बाई 100 मीटर होती लेकिन इस cable की मदद से हम स्कूल, college और office को आसानी से connect कर सकते हैं।

Ethernet Network के लिए कोनसे Component चाहिए

  1. Ethernet Cable 
  2. Ethernet HUB
  3. Crossover Cable 
  4. Router

1)Ethernet Cable

Ethernet cable की मदद से दो या दो से अधिक Computer को आपस में जोड़ सकते हैं.  जिसके जरिये data या Information आना जाना कर सके. LAN network में एक ही तरह के ईथरनेट cable का इस्तेमाल होता है. इन  cables के  उदाहरण जैसे twisted pair cable और fiber optics cable.

2) Ethernet HUB

ये एक Networking device है जिसके जरिये हम सारे Computers के cable (तार) को आपस में जोड़ सकते हैं।Hub एक network के सारे Computer को अपसा में जोड़ता है. एक hub में बोहत सारे Ethernet port रहते है।जिसमे इन cables को जोड़ा ज्याता है।

3) Crossover Cable

इस cable को हम Ethernet cable के बदले में इस्तेमाल कर सकते है. इसका भी वही काम है, जब हम दो या दो से अधिक Computer को अपसा में connect करते है तब इसका इस्तेमाल होता है।

4) Router

इसका नाम तो आप सुने ही होंगे जब भी हम wifi Network की बात करते हैं।ये सब्द जरुर सुनने को मिलता है।Router भी एक networking device है जिसके जरिये Network से आने वाला Data Computer तक पोहंच ता है।और Computer से data दुसरे network में चला ज्याता है।ये device Route मतलब रास्ता निर्धारित करती है।अब तक आप जान ही गए Ethernet क्या है।अभी आप जानोगे ये कितने प्रकार के हैं और क्या क्या हैं।

ईथरनेट कैसे काम करता है(How Ethernet Works)

अगर आप ईथरनेट के working process के बारे में जानना चाहते हैं तो मैं आपको इसके बारे में बहुत ही आसान भाषा में बताता हूँ लेकिन यदि आपके पास Technical knowledge है तो आप इसे बहुत ही अच्छे तरीके से समझेंगे| जैसा की मैंने ऊपर में बताया था की ईथरनेट cable का इस्तेमाल LAN setup करने के लिए होता है, यह बहुत ही कम area के लिए उपयोग किया जाता है जैसे की एक घर के लिए, एक school के लिए, एक office के लिए इत्यादी|

जब एक मशीन नेटवर्क के द्वारा दुसरे मशीन को data send करना चाहती है तो वह सबसे पहले Carrier (वाहक: packet ढोने वाला) को sense करती है मतलब की carrier को active करती है जिससे वह check कर सके की जितने भी wire computer network में connected हैं उनमे पहले से कोई data packet available तो नहीं है ना, मतलब की यह check करता है की data send करने का रास्ता clear है या नहीं that means wire free है या नहीं|

यदि सभी wire free होता है तो कोई भी एक मशीन उस network में data को send कर सकता है और उसके बाद उस computer network से जुड़े सारे मशीन यह check करने लग जाते हैं की इस data को कहाँ पर receive होना है| उस डाटा को यानि की उस packet को (नेटवर्क में data packet के form में जाता है) जहाँ पर receive होना होता है वहां पर receive कर लिया जाता है|

कभी कभी ऐसा होता है की एक मशीन डाटा को send तो कर देता है लेकिन दुसरे मशीन किसी और data packet को receive करने में busy (ब्यस्त) होता है तो ऐसी स्थिति में एक मशीन के द्वारा भेजा गया data packet कुछ देर तक इंतजार (Wait) करता है और जब भी दूसरा मशीन free हो जाता है तो वह data packet उस मशीन के पास फिर से send कर दिया जाता है जिससे वह मशीन data packet को receive कर सके|

Types of Ethernet Networks in Hindi:

Types of Ethernet In Hindi

कई प्रकार के ईथरनेट नेटवर्क हैं, जैसे फास्ट ईथरनेट, गिगाबिट ईथरनेट, और स्विच ईथरनेट। एक नेटवर्क एक साथ कनेक्‍ट दो या दो से अधिक कंप्यूटर सिस्टम का एक ग्रुप है।

1) Fast Ethernet:

इसमें twisted-pair cable या fiber-optic cable का इस्तेमाल होता हैं।

फास्ट ईथरनेट नेटवर्क में twisted-pair cable या fiber-optic cable का उपयोग करके 100 Mbps की दर से डेटा ट्रांसफर हो सकता है।

पुराने 10 Mbps ईथरनेट का अभी भी उपयोग किया जाता है, लेकिन ऐसे नेटवर्क कुछ नेटवर्क-बेस वीडियो ऐप्‍लीकेशन के लिए आवश्यक बैंडविड्थ प्रदान नहीं करते।

फास्ट ईथरनेट CSMA/CD Media Access Control (MAC) प्रोटोकॉल पर आधारित है, और मौजूदा 10BaseT केबलिंग का उपयोग करता है। डेटा किसी भी प्रोटोकॉल ट्रांसमिशन या एप्लिकेशन और नेटवर्किंग सॉफ्टवेयर में परिवर्तन किए बिना 10 Mbps से 100 Mbps तक जा सकता है।

2) Gigabit Ethernet

गीगाबिट ईथरनेट नेटवर्क का यह टाइप twisted-pair या fiber optic केबल पर 1000 Mbps की दर से डेटा ट्रांसफर करने में सक्षम है, और यह बहुत लोकप्रिय है।

गिगाबिट ईथरनेट को सपोर्ट करने वाले twisted-pair केबल्स का टाइप Cat 6 केबल है, जहां केबल के ट्विस्टेड वायर के सभी चार जोड़े हाई डेटा ट्रांसफर रेट को प्राप्त करने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

10 Gigabit Ethernet एक लेटेस्‍ट जनरेशन ईथरनेट हैं जो twisted-pair या fiber optic केबल का उपयोग करके 10 Gbps की दर से डेटा ट्रांसफर करने में सक्षम है।

3) Switch Ethernet:

लैन में कई नेटवर्क डिवाइसेस को नेटवर्क स्विच या हब जैसे नेटवर्क डिवाइसेस की आवश्यकता होती है। नेटवर्क स्विच का उपयोग करते समय, एक क्रॉसओवर केबल के बजाय एक नियमित नेटवर्क केबल का उपयोग किया जाता है। क्रॉसओवर केबल में एक छोर पर ट्रांसमिशन पेयर होती है और दूसरी तरफ एक रिसिविंग पेयर होती है।

नेटवर्क स्विच का मुख्य कार्य उसी नेटवर्क पर एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस तक डेटा को फॉरवर्ड करना है।

Different Types of Ethernet Cables:

ईथरनेट टेक्‍नोलॉजी के विभिन्न प्रकारों को नीचे दिए गए केबल्स के टाइप और diameter के अनुसार नामित किया गया है-

10Base2: एक पतली coaxial केबल का इस्तेमाल होता है: thin Ethernet

10Base5: एक मोटी coaxial केबल का इस्तेमाल होता है: thick Ethernet

10Base-T: Twisted-pair का इस्तेमाल किया जाता हैं और प्राप्त स्‍पीड लगभग 10 Mbps है।

100Base-FX: मल्टीमोड फाइबर ऑप्टिक का उपयोग करके 100 Mbps की स्‍पीड प्राप्त करना संभव बनाता है।

100Base-TX: 10Base-T के समान, लेकिन 10 गुना अधिक (100 Mbps) की स्‍पीड के साथ।

1000Base-T: कटैगरी 5 केबल्स की एक डबल-ट्विस्ट जोड़ी का उपयोग करता है और प्रति सेकंड एक गिगाबिट तक की स्‍पीड देता है।

1000Base-SX: मल्टीमोड फाइबर ऑप्टिक के आधार पर 850 नैनोमीटर (770 से 860 nm) के एक शॉर्ट wavelength signal का उपयोग करता है।

1000Base-LX: मल्टीमोड फाइबर ऑप्टिक के आधार पर 1350 nm (1270 से 1355 nm) के लंबे wavelength signal का उपयोग करता है। ईथरनेट व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली नेटवर्क तकनीक है क्योंकि ऐसे नेटवर्क की लागत बहुत अधिक नहीं है

Massage (संदेश) : आशा है की "Ethernet क्या है और किनते प्रकार के है? What is Ethernet and How Many Types of it" आपको पसंद आयी होगी। कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव देकर हमें यह बताने का कष्ट करें कि Motivational Thoughts को और भी ज्यादा बेहतर कैसे बनाया जा सकता है? आपके सुझाव इस वेबसाईट को और भी अधिक उद्देश्यपूर्ण और सफल बनाने में सहायक होंगे। आप अपने सुझाव निचे कमेंट या हमें मेल कर सकते है!
Mail us : jivansutraa@gmail.com

दोस्तों अगर आपको हमारा post पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़े :

Leave a Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here